• Hindi News
  • Gujarat
  • The couple took 25000 km to take the message of saving forest wealth. Traveled to

वेलेंटाइन डे स्पेशल / वन सम्पदा को बचाने का संदेश लेकर दम्पति ने 25000 कि.मी. की यात्रा की

X

  • प.बंगाल, झारखंड, बिहार, नेपाल, सिक्किम, असम, मेघालय और मणिपुर का प्रवास
  • वडोदरा से थाईलैंड तक का18000 कि.मी. सफर भी तय किया

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2020, 06:47 PM IST

अहमदाबाद. वडोदरा के एक दम्पति का साहस देखकर आज के युवा भी शरमा सकते हैं। रोज मंदिर जाने की उम्र में 73 साल के ये दम्पति वन सम्पदा के संरक्षण के लिए युवाओं को संदेश देना चाहते हैँ। अब तक उन्होंने बाइक से 25000 कि.मी. का सफर तय किया है। आश्चर्य इस बात का है कि पत्नी का एक पांव टूट जाने के कारण अपनी बुलेट में साइड कार लगाकर पति ने उसके साथ पूरे देश का भ्रमण किया है।


वचन को निभा रहे हैं
आज जहां छोटी-छोटी बात पर लोगों में भारी विवाद हो जाता है, परिवार टूट जाते हैं। ऐसे में ये दम्पति हमारे सामने एक मिसाल है। 73 वर्षीय मोहन लाल पी चौहान ने पत्नी लीला बेन को यह वचन दिया था कि उन्हें बुलेट पर बिठाकर पूरे देश का भ्रमण कराएंगे। बस उसी वादे को निभा रहे हैं।


वडाेदरा से थाईलैंड की यात्रा की
शहर के आर वी देसाई रोड पर जलाराम फ्लैट्स में रहने वाले मोहन लाल चौहान उनकी पत्नी लीला बेन ने इसके पहले बाइक पर दक्षिण भारत की यात्रा पर निकले थे। इस दौरान उन्होंने 6500 कि.मी. की यात्रा की। दक्षिण भारत के बाद वे पश्चिम बंगाल, झारखंड, बिहार, नेपाल, सिक्किम, असम, मेघालय, मणिपुर का धार्मिक प्रवास उन्होंने बाइक से किया। वडोदरा से थाईलैंड की18000 कि.मी. यात्रा भी इन्होंने की।


थाईलैंड यात्रा का रूट
थाईलैंड जाने के लिए इन्होंने एक उद्देश्य बताया। युवा वन सम्पदा की ओर ध्यान दें। उसका संरक्षण करें। इस संदेश के साथ दम्पति 18 जनवरी को वडोदरा से निकले।  इसके बाद हालोल, गोधरा, दाहोद होते हुए मध्यप्रदेश के ओमकारेश्वर, उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद, वाराणसी होते हुए बिहार झारखंड को पार किया। वहां से वे थाईलैंड होते हुए कम्बोडिया जाकर विशाल हिंदू मंदिर में जाकर दर्शन किए।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना