• Hindi News
  • Local
  • Gujarat
  • The next night of the Takkshila incident, Grimsha left the picture unfinished, the friend completed the last sign to par

सपना पूरा / मौत से एक दिन पहले अधूरी तस्वीर को दोस्त ने पूरा कर माता-पिता को भेंट किया

चित्रकारी करती ग्रीष्मा चित्रकारी करती ग्रीष्मा
दोस्त जयन ने घर के दरवाजे बनाए और अधूरे छोड़े पीले रंग पर हरा पेड़ और नाव बनाई दोस्त जयन ने घर के दरवाजे बनाए और अधूरे छोड़े पीले रंग पर हरा पेड़ और नाव बनाई
X
चित्रकारी करती ग्रीष्माचित्रकारी करती ग्रीष्मा
दोस्त जयन ने घर के दरवाजे बनाए और अधूरे छोड़े पीले रंग पर हरा पेड़ और नाव बनाईदोस्त जयन ने घर के दरवाजे बनाए और अधूरे छोड़े पीले रंग पर हरा पेड़ और नाव बनाई

  • बेटी की आखिरी निशानी है वह तस्वीर
  • बेटी ने सपने में कहा था-मेरी अधूरी तस्वीर पूरी करने के लिए दोस्त से कहना

दैनिक भास्कर

Nov 02, 2019, 02:41 PM IST

हसमुख खरा, सूरत. सरथाणा स्थित तक्षशिला आर्केड में 24 मई को हुए अग्निकांड के 6 महीने बाद अभिभावक अपने मृत बच्चों को न्याय दिलाने के लिए जूझ रहे हैं। ऐसे में अपनी मौत के पहले ग्रीष्मा ने एक तस्वीर बनाई थी, जो अधूरी रह गई, उसे उसके दोस्त ने पूरी कर माता-पिता को बेटी की आखिरी निशानी के रूप में भेंट किया।
 

भविष्य की तस्वीर थे सभी होनहार
तक्षशिला अग्निकांड में सभी मृतक भविष्य की तस्वीर थे। किंतु भ्रष्ट प्रशासन ने सभी 22 युवाओं के अरमानों और सपनों को मार डाला। सभी के सपने अधूरे रह गए। ऐसे में ग्रीष्मा गजेरा ने 23 मई की रात को एक चित्र बनाया था, जो अधूरा रह गया। दूसरे दिन वह मौत के आगोश में समा गई। सपने में उसने अपनी मां से कहा था कि मेरे अधूरे चित्र को पूरा करने के लिए मेरे दोस्त जयन गोस्वामी ने कहना, वह उसे पूरा कर देगा। फिर जयन ने जब 5 दिन के परिश्रम से ग्रीष्मा के अधूरे चित्र को पूरा कर उसके माता-पिता को बेटी की आखिरी निशानी के रूप में दिया, तो उनकी आंखें सजल हो गई।
 

मेरी बेटी की आखिरी निशानी
जयन ने बेटी के अधूरे चित्र को पूरा कर बहुत बड़ा काम किया है। यह चित्र मेरी बेटी ग्रीष्मा की आखिरी निशानी है। विलास बेन गजेरा, ग्रीष्मा की मां
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना