• Hindi News
  • Gujarat
  • There was a twist between husband and wife and the whole family was killed
--Advertisement--

पति-पत्नी के झगड़े में पूरा परिवार समाया मौत के आगोश में

पति मानसिक रूप से बीमार था और अपने ससुराल में ही रह रहा था।

Dainik Bhaskar

Apr 27, 2018, 11:53 AM IST
पीपणाता का परिवार मजदूरी के लिए बेलेंद्री गांव गया था। पीपणाता का परिवार मजदूरी के लिए बेलेंद्री गांव गया था।

नडियाद। कंजोड़ा नहर के करीब से गुजरते हुए पति-पत्नी के बीच झगड़ा हुआ, इससे पति नहर में कूदने के लिए तैयार हो गया, उसे बचाने के लिए उसकी पत्नी अपने बच्चे को लेकर आगे बढ़ी, कुछ ऐसा हुआ कि तीनों ही नहर में डूब गए। यह दृश्य बच्चे की मौसी ने देखा, तो उसने शोर मचाते हुए लोगों को बुलाया। बाद में फायर ब्रिगेड की टीम ने नहर से 3 लाशें निकाली। एक ही परिवार के 3 सदस्य चल बसे…

पुलिस सूत्रों के अनुसार नडियाद तहसील के पीपणाता गांव के राहुल उदेसिंह वादी(30) पिछले काफी समय से विक्षिप्त हो गया था। इस कारण से वह अपनी पत्नी सरोज (27) के साथ उसके मायके में ही रहता था। इस दौरान मंगलवार को सरोज और उसकी बहन सेजल मजदूरी के लिए कंजोड़ा के पास बेलेंद्री गांव गए थे। जहां से वे लौट रहे थे, सराेज की गोद में 3 साल का बेटा भ था, जब वे नहर के पास से होकर गुजर रहे थे, तभी राहुल-सरोज के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया। इससे राहुल तैश में आकर नहर में कूदने के लिए तैयार हो गया। इससे सरोज ने उसका हाथ पकड़कर उसे रोकने की कोेशिश की। इसी खींचतान में राहुल और सरोज तो नहर में गिरे ही, साथ ही सरोज की गोद में 3 साल का मासूम भी नहर में डूब गया। यह देखकर सेजल ने शोर मचाया, जिससे आसपास के लोग जमा हो गए। तुरंत फायर ब्रिगेड को सूचना दी गई, टीम ने आकर तीनों को बचाने की पूरी कोशिश की, पर उनकी लाशें ही बाहर आ पाई। एक ही परिवार के 3 सदस्यों की मौत् से गांव में शोक व्याप्त है।

राहुल कोई काम-धंधा नहीं करता था, इसलिए पत्नी उसे मायके ले आई थी। राहुल कोई काम-धंधा नहीं करता था, इसलिए पत्नी उसे मायके ले आई थी।
एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत से गांव में शोक। एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत से गांव में शोक।
X
पीपणाता का परिवार मजदूरी के लिए बेलेंद्री गांव गया था।पीपणाता का परिवार मजदूरी के लिए बेलेंद्री गांव गया था।
राहुल कोई काम-धंधा नहीं करता था, इसलिए पत्नी उसे मायके ले आई थी।राहुल कोई काम-धंधा नहीं करता था, इसलिए पत्नी उसे मायके ले आई थी।
एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत से गांव में शोक।एक ही परिवार के 3 लोगों की मौत से गांव में शोक।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..