Home | Gujarat | News | This village of Gujarat is deprived of all the facilities

गुजरात के सबसे गरीब गांव की दशा, बारिश में बन जाता है टापू

विकास के नाम पर भटेरापुरा पूरी तरह से पिछड़ा हुअा है, बच्चों को पढ़ने के लिए 3 कि.मी. दूर जाना होता है।

Dainilbhaskar.com| Last Modified - May 01, 2018, 05:59 PM IST

1 of
This village of Gujarat is deprived of all the facilities
गुजरात के सबसे गरीब गांव केी दशा।

समी। गुजरात राज्य की स्थापना के पहले से ही यहां रहने वाले भटेरापुरा गांव के लोग आज सारी सरकारी सुविधाओं से पूरी तरह से वंचित हैं। गांव में शाला नहीं है, इसलिए आंगनबाड़ी केंद्र की बात ही भूल जाओ। बारिश में यह गांव बन जाता है पूरी तरह से टापू। गांव के सभी रास्ते कच्चे हैं। पीने का पानी सबसे बड़ी समस्या…    

 

भटेरापुरा गांव के नरसिंहभाई ठाकोर का कहना है कि हमारा गांव समी-राघनपुर हाइवे पर बास्पा गाम से 3 कि.मी. दूर स्थित है। भारत-पाकिस्तान के विभाजन के पहले ही हम पाकिस्तान छोड़कर आ गए हैं। पाकिस्तान से आए यहां 35 से 40 निराश्रित परिवार हैं। उस परिवार की तीसरी पीढ़ी अभी यहां रह रही है। सभी खेत मजदूर हैं। यह गांव महेमदपुरा समूह ग्राम पंचायत में समाविष्ट है। इसलिए सरकारी कागजात में तो हमारा गांव है, पर विकास के मामले में यह सबसे पीछे है।

 

आज तक पानी नहीं पहुंचा

बास्पा से कच्चे रास्ते से इस गांव में पहुंचा जा सकता है। गांव में प्राथमिक शाला नहीं है, इसलिए बच्चों को तीन कि.मी. चलकर बास्पा जाना होता है। इसलिए गांव की बेटियां पढ़ नहीं पाई। पानी के लिए दो साल पहले पाइप लाइन डाली गई थी, उसके बाद कुछ दिन पानी आया, उसके बाद जो बंद हुआ, तो आज तक नहीं आया। पानी के लिए खेत में एक तालाब बनाया है, जिसमें से महिलाएं पानी निकालती हैं।

 

बारिश में सभी रास्ते बंद

गांव के निवासी शंकरभाई मनजीभाई के अनुसार बास्पा हाइवे से गांव को जोड़ने वाला 3 कि.मी. का कच्चा रास्ता बारिश के दिनों में पूरी तरह से भर जाता है, इससे गांव का सम्पर्क पूरी तरह से टूट जाता है। गांव एक तरह से टापू बन जाता है। तब बीमारी या प्रसूति के समय हमारी समस्या और बढ़ जाती है। सरकार इस दिशा में कुछ करे, हम यही आशा करते हैं।

 
This village of Gujarat is deprived of all the facilities
महिलाएं इस तरह से पानी निकालती हैं।
This village of Gujarat is deprived of all the facilities
इस गांव में किसी तरह का विकास कार्य नहीं हुआ।
This village of Gujarat is deprived of all the facilities
पढ़ाई के लिए बच्चों को 3 कि.मी. दूर जाना होता है।
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now