--Advertisement--

गुजरात के सबसे गरीब गांव की दशा, बारिश में बन जाता है टापू

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 05:59 PM IST

विकास के नाम पर भटेरापुरा पूरी तरह से पिछड़ा हुअा है, बच्चों को पढ़ने के लिए 3 कि.मी. दूर जाना होता है।

गुजरात के सबसे गरीब गांव केी दशा। गुजरात के सबसे गरीब गांव केी दशा।

समी। गुजरात राज्य की स्थापना के पहले से ही यहां रहने वाले भटेरापुरा गांव के लोग आज सारी सरकारी सुविधाओं से पूरी तरह से वंचित हैं। गांव में शाला नहीं है, इसलिए आंगनबाड़ी केंद्र की बात ही भूल जाओ। बारिश में यह गांव बन जाता है पूरी तरह से टापू। गांव के सभी रास्ते कच्चे हैं। पीने का पानी सबसे बड़ी समस्या…

भटेरापुरा गांव के नरसिंहभाई ठाकोर का कहना है कि हमारा गांव समी-राघनपुर हाइवे पर बास्पा गाम से 3 कि.मी. दूर स्थित है। भारत-पाकिस्तान के विभाजन के पहले ही हम पाकिस्तान छोड़कर आ गए हैं। पाकिस्तान से आए यहां 35 से 40 निराश्रित परिवार हैं। उस परिवार की तीसरी पीढ़ी अभी यहां रह रही है। सभी खेत मजदूर हैं। यह गांव महेमदपुरा समूह ग्राम पंचायत में समाविष्ट है। इसलिए सरकारी कागजात में तो हमारा गांव है, पर विकास के मामले में यह सबसे पीछे है।

आज तक पानी नहीं पहुंचा

बास्पा से कच्चे रास्ते से इस गांव में पहुंचा जा सकता है। गांव में प्राथमिक शाला नहीं है, इसलिए बच्चों को तीन कि.मी. चलकर बास्पा जाना होता है। इसलिए गांव की बेटियां पढ़ नहीं पाई। पानी के लिए दो साल पहले पाइप लाइन डाली गई थी, उसके बाद कुछ दिन पानी आया, उसके बाद जो बंद हुआ, तो आज तक नहीं आया। पानी के लिए खेत में एक तालाब बनाया है, जिसमें से महिलाएं पानी निकालती हैं।

बारिश में सभी रास्ते बंद

गांव के निवासी शंकरभाई मनजीभाई के अनुसार बास्पा हाइवे से गांव को जोड़ने वाला 3 कि.मी. का कच्चा रास्ता बारिश के दिनों में पूरी तरह से भर जाता है, इससे गांव का सम्पर्क पूरी तरह से टूट जाता है। गांव एक तरह से टापू बन जाता है। तब बीमारी या प्रसूति के समय हमारी समस्या और बढ़ जाती है। सरकार इस दिशा में कुछ करे, हम यही आशा करते हैं।

महिलाएं इस तरह से पानी निकालती हैं। महिलाएं इस तरह से पानी निकालती हैं।
इस गांव में किसी तरह का विकास कार्य नहीं हुआ। इस गांव में किसी तरह का विकास कार्य नहीं हुआ।
पढ़ाई के लिए बच्चों को 3 कि.मी. दूर जाना होता है। पढ़ाई के लिए बच्चों को 3 कि.मी. दूर जाना होता है।
X
गुजरात के सबसे गरीब गांव केी दशा।गुजरात के सबसे गरीब गांव केी दशा।
महिलाएं इस तरह से पानी निकालती हैं।महिलाएं इस तरह से पानी निकालती हैं।
इस गांव में किसी तरह का विकास कार्य नहीं हुआ।इस गांव में किसी तरह का विकास कार्य नहीं हुआ।
पढ़ाई के लिए बच्चों को 3 कि.मी. दूर जाना होता है।पढ़ाई के लिए बच्चों को 3 कि.मी. दूर जाना होता है।
Astrology

Recommended

Click to listen..