आई फार्मेशन / गुजरात राज्य में कहर बरपा सकता है वायु चक्रवात



प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
X
प्रतीकात्मक तस्वीरप्रतीकात्मक तस्वीर

  • अब यह तय है कि हवा की गति 160 कि.मी. प्रति घंटे होगी
  • 10 जिलों के समुद्री किनारे असुरक्षित

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2019, 03:53 PM IST

अहमदाबाद. बुधवार की आधी रात को वेरावल समेत गुजरात के सौराष्ट्र का सम़ुद्री किनारे पर आने वाले चक्रवात की तीव्रता 160 कि.मी. प्रति घंटे हाेगी। इससे यह गुजरात के लिए आफत बन सकता है। यह जानकारी इस बार बने आई फारमेशन को देखकर मिली।


10 जून से ही शुरू हो गई थी कवायद
गुजरात के समुद्री किनारों को मथने वाला इस वायु चक्रवात की तीव्रता उसके गर्भ में सर्जित आई फार्मेशन यानी आंख जैसी मध्यरचना से निर्धारित होता है। ऐसा माना जाता है कि किसी भी चक्रवात की गंभीरता और उसके कहर बरपाने की क्षमता में आई फार्मेशन की सबसे बड़ी भूमिका होती है। 10 जून को अरब सागर में डीप डिप्रेशन के कारण वायु चक्रवात में आई फार्मेशन बनना तय हो गया था। यह चक्रवात गुजरात के समुद्री किनारों पर कहर बरपाएगा, उसकी तीव्रता 160 कि.मी. प्रति घंटे होगी।


क्या है आई फार्मेशन
तीव्र चक्रवात के मध्य में शांत रहने वाले बादल यानी आई फार्मेेशन
किसी भी चक्रवात की तीव्रता आई फार्मेेशन आधारित होती है। आई यानी कोई भी तीव्र उष्ण कटिबंधीय चक्रवात के मध्य में दिखने वाले शांत मौसम का स्थान, जहां आंख जैसी रचना होती है। चक्रवात की आंख पर गोल घूमता इलाका होता है। जो आम तौर पर 30-65 कि.मी. यानी 20-40 मील की परिधि में होता है। इस पर घूमने वाला आई वॉल यानी आंख जैसी रचना वाली टावरिंग अंगूठी जैसी गोल रचना होती है। यही स्थान है जहां सबसे खराब मौसम और सर्वोच्च गति का पवन सर्जित होता है।


आई फार्मेशन के कारण ही बरपेगा कहर
गुजरात के पोरबंदर और महुआ के समुद्री किनारों के बीच आने वाले वायु चक्रवात में हवा की गति बहुत ही तीव्र होगी। इसके पीछे आई फार्मेशन ही जवाबदार है। ऐसा मौसम विज्ञानियों का मानना है। उल्लेखनीय है कि वायु चक्रवात के कारण गुजरात के 10 जिलों के समुद्री इलाकों में काफी असर दिखाई देगा। इसके मद्देनजर सरकार ने 3 लाख लोगों को समुद्री किनारों से हटाकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना