रेल्वे में वेटिंग चार्ज / स्टेशनों पर एसी-स्लीपर वेटिंग रूम में रुकने का लगेगा चार्ज



Waiting Charge in Railway
X
Waiting Charge in Railway

  • सूरत सहित 7 स्टेशनों के वेटिंग हॉल निजी हाथों में जाएंगे 
  • अभी वीआईपी लाउंज के लिए देना पड़ता है चार्ज 

Dainik Bhaskar

Jul 12, 2019, 04:56 PM IST

सूरत. रेलवे स्टेशनों के वेटिंग हॉल में ठहरना यात्रियों को महंगा पड़ सकता है। दरअसल पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल सात बड़े स्टेशनों पर एसी और स्लीपर वेटिंग रूम का इस्तेमाल करने वालों से चार्ज वसूलने की तैयारी कर रही है। इसमें सूरत और उधना स्टेशन भी शामिल हैं। 


वेटिंग हॉल की देखभाल निजी ठेकेदार के हाथों
इसके अलावा वापी, वलसाड, मुंबई सेंट्रल, बांद्रा टर्मिनस और बोरीवली स्टेशन हैं। इन वेटिंग हॉल का देखभाल निजी ठेकेदार करेेंगे। इसको लेकर एक प्रस्ताव रखा गया था, जिसे पश्चिम रेलवे ने मंजूरी दे दी है। अब एक महीने के अंदर इसका टेंडर निकाला जाएगा। अभी स्टेशनों पर एसी और स्लीपर वेंटिंग हॉल के लिए कोई चार्ज नहीं देना पड़ता है। हालांकि अभी यह तय नहीं है कि यात्रियों के पॉकेट पर कितना खर्च पड़ेगा।


सूरत, उधना, वापी, वलसाड़ का टेंडर जारी होगा
पश्चिम रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुंबई मंडल के नॉन सब अर्बन में सूरत, उधना, वापी और वलसाड स्टेशन जबकि सब अर्बन के बोरीवली, मुंबई सेंट्रल और बांद्रा टर्मिनस स्टेशन के एसी, स्लीपर वेटिंग रूम का टेंडर जारी किया जाएगा। इन सातों स्टेशनों पर बड़ी संख्या में यात्री एसी और स्लीपर वेटिंग हॉल का इस्तेमाल करते हैं। 


कितना चार्ज वसूला जाएगा, तीन से चार माह में तय होगा 
रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि वेटिंग हॉल को ठेके पर देने के लिए टेंडर प्रक्रिया की तैयारी चल रही है। इसे अगले एक महीने के अंदर जारी कर दिया जाएगा। टेंडर के खुलने, उसके फाइनल होने और यात्रियों से वेटिंग हॉल के लिए कितना चार्ज वसूला जाएगा ये सब निर्धारित होने में करीब तीन से चार माह लग जाएंगे। हालांकि उन्होंने बताया कि निजी हाथों में जाने से यात्रियों की सुविधाएं भी बढ़ जाएंगी। 


अभी वीआईपी लाउंज के लिए देना पड़ता है चार्ज 
फिलहाल भारतीय रेल के विभिन्न जोन में बनाए गए वीआईपी लाउंज आईआरसीटीसी द्वारा संचालित हो रहे हैं। इसके लिए किसी भी श्रेणी के यात्री चार्ज देकर इसका लाभ ले सकते हैं। 

COMMENT