राजकोट

--Advertisement--

मां टाॅयलेट गई और 3 साल की मासूम से हो गया दुष्कर्म, मचा हाहाकार

केंद्र सरकार ने इस अपराध के लिए फांसी की सजा तय की है। इसलिए आरोप सिद्ध होने पर उसे फांसी की सजा हो सकती है।

Dainik Bhaskar

Apr 24, 2018, 12:25 PM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

जामनगर। द्वारका तहसील के फरूंगा के पास स्थित आरएसपीए केम्प के अंदर मजदूर कॉलोनी में सोमवार की दोपहर 3 साल की मासूम से दुष्कर्म की घटना से हाहाकार मच गया है। आरोपी फरार है। अपनी नाकामी को छिपाने के लिए द्वारका पुलिस ने इस घटना को दबाकर रखा था। जब मासूम को जामनगर के अस्पताल ले जाया गया, तब पता चला कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ है। मां ने एक शख्स को भागते हुए देखा था…

मजदूर महिला अपनी तीन साल की बेटी को छोड़कर टॉयलेट गई थी। इस दौरान किसी हवसखोर ने उसकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया। बच्ची लहूलुहान थी। महिला ने एक शख्स को भागते हुए देखा भी, उसने जोर से आवाज भी दी, सिक्याेेरिटी गार्ड को भी बुलाया, पर वह शख्स फरार हो चुका था।

17 पुरुषों से पूछताछ

इस घटना की सूचना तुरंत पुलिस को दी गई। पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। उस दौरान वहां उपस्थित 17 पुरुषों से पूछताछ की गई। किंतु कोई सुराग हाथ नहीं लगा। इधर मासूम की तबीयत बिगड़ने पर उसे इलाज के लिए जामनगर के अस्पताल में ले जाया गया। अस्पताल में पता चला कि मासूम से दुष्कर्म हुआ है। इससे आसपास के लोगों में हाहाकार मच गया। लोगों में इस बात को लेकर रोष है। मासूम की तबीयत स्थिर है।

जांच चल रही है-एसपी

द्वारका के एसपी रोहन आनंद ने बताया कि घटना गंभीर है। मासूम की मां ने एक अनजाने शख्स को भागते देखा है। इस कारण वहां उपस्थित पुरुष मजदूरों और अन्य लोगों से पूछताछ की गई, आगे जांच जारी है। बच्ची को एमएलसी के लिए जामनगर भेजा गया है।

फांसी का पहला अपराध

द्वारका में तीन साल की मासूम से दुष्कर्म की रिपोर्ट लिखवाई गई है। केंद्र सरकार ने इस अपराध के लिए फांसी की सजा तय की है। इसलिए आरोप सिद्ध होने पर उसे फांसी की सजा हो सकती है। द्वारका पुलिस के लिए भी यह एक नया विषय है।

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
X
प्रतीकात्मक तस्वीरप्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीरप्रतीकात्मक तस्वीर
Click to listen..