--Advertisement--

31 बरातियों की मौत के बाद भी शादी सम्पन्न, हादसे से अनजान था दूल्हा

कन्यापक्ष द्वारा 700 लोगों के लिए भोजन तैयार किया गया था, पर किसी के गले से निवाला तक नहीं निगला गया।

Danik Bhaskar | Mar 07, 2018, 01:50 PM IST
दूल्हे को बरातियों की मौत की खबर से रखा गया अनजान। दूल्हे को बरातियों की मौत की खबर से रखा गया अनजान।

भावनगर। पालिताणा के अनिडा गांव के निवासी प्रवीणभाई वाघेला के बेटे विजय की शादी के लिए बोटाद के टाटम जा रहा ट्रक रंघाणा के पास पुल से गिर पड़ा। इसमें 31 बरातियों की मौत हो गई थी। मृतकों में दूल्हे के माता-पिता भी शामिल थे। उधर टाटम में दूल्हे को इससे अनजान रखा गया। आखिर में शादी हो गई। शादी के दौरान दूल्हा बार-बार अपने माता-पिता और संबंधियों के बारे में पूछताछ करता रहा, पर किसी ने भी उसे सच्चाई नहीं बताई। दूल्हे की साली की भी शादी थी…

दूल्हे के बार-बार पूछने पर यही कहा गया कि वे लोग रास्ते पर हैं। आने में वक्त लगेगा। बाद में उसे यह बताया गया कि ट्रक बिगड़ गया है। आने में देर होगी। दूल्हे विजय के साथ उसकी साली की भी शादी थी, जिसकी बरात बोटाद के शियानगर से आई थी। जब उसकी बरात आई, तो शादी का मुहूर्त जानने के बहाने दूल्हे विजय को समझाकर कन्यापक्ष द्वारा सम्मान किया गया। फिर शादी की रस्में शुरू की गई। शादी के उस गमगीन माहौल में जैसे-तैसे शादी हो गई। उधर कन्यापक्ष द्वारा 700 लोगों के लिए भोजन तैयार किया गया था, पर किसी के गले से निवाला तक नहीं निगला गया।

आखिरी पलों में दूल्हा कार से पहुंचा

कोली परिवार की बरात अनिडा से टाटम के लिए रवाना हुई, तब दूल्हा भी ट्रक से ही जाने वाला था, आखिर पलों में उसका कार्यक्रम बदला गया और वह कार से रवाना हो गया।

टाटम में हुई शादी। टाटम में हुई शादी।
शादी समारोह का माहौल। शादी समारोह का माहौल।
कन्यापक्ष द्वारा दूल्हे का स्वागत किया गया। कन्यापक्ष द्वारा दूल्हे का स्वागत किया गया।