--Advertisement--

पिता का घर तोड़ा, बेटी की शादी हुई नदी किनारे, CM को लिखी चिट्ठी

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा बाद में लगाना, पहलेे इस बेटी की शादी करवा दो।

Dainik Bhaskar

Feb 06, 2018, 03:32 PM IST
पिता का घर तोड़ा गया, बेटी की शादी हुई नदी किनारे। पिता का घर तोड़ा गया, बेटी की शादी हुई नदी किनारे।

ऊना। ‘मैं तो शादी के बाद अपने ससुराल चली जाऊंगी, पर मेरे माता-पिता और दो भाइयों का क्या होगा, जो बेघर हो गए हैं। मुख्यमंत्री जी, जहां मेरी तीन बहनों की शादी हुई, जिस आंगन में मैं बड़ी हुई, उस सपनों के घर को राजनीतिक द्वेष से तोड़ डाला गया। इन लोगों ने हमारा आशियाना ही छीन लिया।’ यह शब्द हैं ऊना के देलवाडा में रहने वाली भावना बेन का। जिसकी शादी घर टूटने के कारण नदी किनारे की गई। उसने मुख्यमंत्री को लिखी थी चिट्ठी। राजनीतिक द्वेष के चलते तोड़ दिया गया घर…

26 मई 2017 को देलवाड़ा ग्राम पंचायत की सरपंच, प्रदेश भाजपा युवा मोर्चे की मंत्री और गिर-सोमनाथ जिला पंचायत सदस्य और महिला और बाल कल्याण समिति की चेयरमेन के पति विजयभाई लाखाभाई बांभणिया ने भावना बेन के पिता का पेशकदमी में बना मकान तोड़ दिया। अब पूरा परिवार बेघर हो गया है। युवती ने अपने पत्र में लिखा है कि अब परिवार किराए के मकान में रहता है। परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर हो गई है। गांव का कम्युनिटी हॉल जर्जर है। वहां भी शादी नहीं हो सकती, इसलिए उसे नदी के किनारे शादी का आयोजन करना पड़ा।

क्या कहा भावना बेन ने

भावना बेन ने बताया कि हमारा मकान तोड़ दिया गया। इसकी शिकायत हमने सरकार से की थी। अब शादी कहां हो क्योंकि गांव का कम्युनिटी हॉल जर्जर है। हमें जवाब मिला कि आपको जहां शादी करनी हो, करो।

सरकारी मकान मिलने का लाभ भी छीन लिया गया

भावना बेन वंश की मां मीणाबेन भीमाभाई वंश ने गत 3 सितम्बर 2017 को मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था। इसके बाद कलेक्टर ने देलवाडा के सरपंच से इस संबंध में जानकारी मांगी थी। किंतु सरपंच ने उन्हें झूठी जानकारी दे दी। इससे हुआ यह कि सरकार की ओर से उन्हें मकान का जो लाभ मिलने वाला था, उससे भी उनका परिवार वंचित हो गया।

बेटी-बचाओ, बेटी पढ़ाओ बाद में, पहले बेटी की शादी करा दो

सीएम काे लिखे पत्र में भावना बेन ने सरपंच की शिकायत करते हुए कहा है कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा बाद में लगाना, पहलेे इस बेटी की शादी करवा दो।

राग-द्वेष से टूटा घर। राग-द्वेष से टूटा घर।
बेटी घर से शादी के लिए बाइक से गई। बेटी घर से शादी के लिए बाइक से गई।
नदी किनारे हुई शादी। नदी किनारे हुई शादी।
सीएम को लिखी चिट्ठी। सीएम को लिखी चिट्ठी।
X
पिता का घर तोड़ा गया, बेटी की शादी हुई नदी किनारे।पिता का घर तोड़ा गया, बेटी की शादी हुई नदी किनारे।
राग-द्वेष से टूटा घर।राग-द्वेष से टूटा घर।
बेटी घर से शादी के लिए बाइक से गई।बेटी घर से शादी के लिए बाइक से गई।
नदी किनारे हुई शादी।नदी किनारे हुई शादी।
सीएम को लिखी चिट्ठी।सीएम को लिखी चिट्ठी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..