--Advertisement--

चाची-भतीजे में पनपा प्यार, 17 दिन बाद दोनों की लाश गेहूं के खेत में मिली

Dainik Bhaskar

Mar 10, 2018, 01:04 PM IST

दोनों एक दिन लापता हुए थे, पहले दोनों का संबंध देवर-भाभी बताया गया था।

क्षत-विक्षत लाश। क्षत-विक्षत लाश।

जामकंडोरणा। इस तहसील किे अडवाणा गांव में चाची-भतीजे के बीच प्यार पनपा। इसके बाद दोनों ने 17 दिन पहले किन्हीं कारणों ने ज़हर का सेवन कर अपनी जिंदगी खत्म कर दी थी। कल जब खेत के मालिक हार्वेस्टर से गेहूं की कटाई कर रहे थे, तब वहां दुर्गंध मारती दो लाशें मिली। जिससे पता चला कि यह तो गांव के ही चाची-भतीजे की लाश है। दोनों एक-दूसरे से बहुत प्यार करते थे…

चाची का नाम काजल अशोक मकवाणा और भतीजे का नाम अनिल उर्फ अंकुर छगन मकवाणा है। माता-पिता की एकमात्र संतान 22 वर्षीय अनिल का प्यार दो संतानों की मां काजल से हाे गया। दोनों एक-दूसरे के प्यार में डूब गए। जब उन्हें लगा कि समाज उन्हें एक नहीं होने देगा, तो दोनों ने 17 दिन पहले जहर का सेवन कर लिया और अपनी जिंदगी दांव में लगा दी। दोनों के गुम होने की रिपोर्ट 20 फरवरी को लिखवाई गई थी।

पहले दोनों को देवर-भाभी बताया गया था

जब यह मामला सामने आया, तब दोनों को देवर-भाभी बताया गया था। पर जब जांच हुई, तो यह सामने आया कि दोनों चाची-भतीजा हैं। दोनों एक ही दिन गांव से गायब हुए। इससे पुलिस को शक हो गया कि मामला प्यार का है। 17 दिनों बाद गेहूं के खेत में दोनों की क्षत-विक्षत लाश दुर्गंध मारती हुई मिली, तो सच सामने आया।

घटनास्थल का निरीक्षण करते पुलिस अधिकारी। घटनास्थल का निरीक्षण करते पुलिस अधिकारी।
घटनास्थल के पास ही मिला मोबाइल और ज़हर। घटनास्थल के पास ही मिला मोबाइल और ज़हर।
क्षत-विक्षत लाश। क्षत-विक्षत लाश।
X
क्षत-विक्षत लाश।क्षत-विक्षत लाश।
घटनास्थल का निरीक्षण करते पुलिस अधिकारी।घटनास्थल का निरीक्षण करते पुलिस अधिकारी।
घटनास्थल के पास ही मिला मोबाइल और ज़हर।घटनास्थल के पास ही मिला मोबाइल और ज़हर।
क्षत-विक्षत लाश।क्षत-विक्षत लाश।
Astrology

Recommended

Click to listen..