राजकोट

--Advertisement--

‘देश में हिंदुत्व है ही नहीं’ दिग्विजय सिंह का एक और विवादास्पद बयान

हमें एक नई ऊर्जा और शक्ति मिल रही है। हमें किसी प्रकार की तकलीफ नहीं हुई। हमें खूब शांति मिली।

Danik Bhaskar

Nov 24, 2017, 02:18 PM IST
नर्मदा परिक्रमा में दिग्विजय सिंह नर्मदा परिक्रमा में दिग्विजय सिंह

राजपीपला।मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा के सांसद दिग्विजय अपने विवादास्पद बयानों के लिए अलग से पहचाने जाते हैं। इस बार अपनी नर्मदा यात्रा के दौरान उन्होंने एक बार फिर एक विवादास्पद बयान देकर सुर्खियां बटोरी हैं। इस बार उन्होंने कहा है कि ‘हिंदुत्व जैसा देश में कुछ है ही नहीं, इस शब्द को वीर सावरकर लेकर आए थे, किंतु वे स्वयं सनातन धर्म को मानते थे।’ पत्नी अमृता के साथ हैं नर्मदा परिक्रमा पर…

70 वर्षीय दिग्विजय सिंह पत्नी अमृता राय, अपने परिवार के सदस्यों, पूर्व सांसदों, मंत्रियों समेत कुल 200 लोगों के साथ नर्मदा की परिक्रमा करते हुए नर्मदा जिले के सुलपाणेश्वर महादेव मंदिर में विश्राम किया। पत्रकारों से बातचीत करते हुए दिग्विजय सिंह ने बताया कि पिछले 20 सालों से वे नर्मदा की परिक्रमा पर विचार कर रहे थे, किंतु व्यस्तता के चलते यह संभव नहीं हो पाया। पर अब सारे कार्यक्रमों को स्थगित करते हुए अपने गुरु शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती की अनुमति लेकर परिवार और मित्रों के साथ 30 सितम्बर 2017 से निकल पड़े हैं। वे रोज 20 कि.मी. की यात्रा करते हैं।

54 दनों में 925 कि.मी. की परिक्रमा

अब तक वे 54 दिनों में 925 कि.मी. की यात्रा कर चुके हैं। इस दौरान वे नर्मदा जिले के केवडिया के पास शूल पाणेश्वर आए थे। यहां उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए पहले तो यह कह दिया कि वे किसी भी तरह की राजनीतिक टिप्पणी नहीं करेंगे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि गुजरात की जनता जानती है कि कौन सच्चा है और कौन झूठा? पर जब बातचीत हिंदुत्व पर होने लगी, तो उन्होंने कहा कि हिंदुत्व जैसा देश में कुछ है ही नहीं, यह तो वीर सावरकर इस शब्द को लाए थे, पर वे सनातन धर्म को मानते थे। आर्य समाज को नहीं मानते थे। इस तरह से उन्होंने न चाहते हुए भी एक विवादास्पद बयान दे ही दिया।

परिक्रमा से बहुत शांति और ऊर्जा मिलती है-अमृता

देश की जानी-मानी न्यूज एंकर और एडिटर अमृता राय से दिग्विजय सिंह ने शादी की है। उसने बताया कि इस समय हम नर्मदा परिक्रमा कर रहे हैं, इसके बाद भी हम थक नहीं रहे, बल्कि इससे हमें एक नई ऊर्जा और शक्ति मिल रही है। हमें किसी प्रकार की तकलीफ नहीं हुई। हमें खूब शांति मिली। मां नर्मदा हमारी रक्षा कर रही हैं।

आगे की स्लाइड्स में देखें PHOTOS

अपने समर्थकों के साथ दिग्विजय सिंह अपने समर्थकों के साथ दिग्विजय सिंह
Click to listen..