--Advertisement--

मालगाड़ी की चपेट में आने से माता-पिता समेत दो पुत्रों की मौत

दादा के घर होने से मृतक परिवार की बेटी बच गई।

Dainik Bhaskar

Apr 11, 2018, 02:11 PM IST
Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo

दियोदर/ पालनपुर। दियोदर के भाडकासर गांव के पास मंगलवार की शाम को भुज से पालनपुर जाती हुई मालगाड़ी की चपेट में आने से एक परिवार के चार सदस्यों की मौत हो गई। इसमें माता-पिता एवं उनके दो बेटे शामिल हैं। इस घटना से पूरे इलाके में शोक व्याप्त हो गया। इस घटना में दादा के घर होने से बेटी का बचाव हो गया। रेल्वे पुलिस ने जांच शुरू कर दी है…

दियोदर तहसील के ध्रांडव गांव में रहने वाले मजदूर ईश्वर भाई ठाकोर मंगलवार की शाम को पत्नी और दो बेटों को लेकर जा रहे थे, तभी वे सभी भुज से पालनपुर जाती हुई मालगाड़ी की चपेट में आ गए। इससे पत्नी और एक बेटे की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। उधर ईश्वर भाई और उनके तीन साल के बेटे की मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई। पूरा परिवार किस तरह से मालगाड़ी की चपेट में आ गया, इस लोग अनेक तरह की चर्चाएं कर रहे हैं। रेल्वे पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

बच गई बेटी

मृतक परिवार में एक बेटी नीता भी है, जो दादा जी के घर होने से बच गई। अब वह इस दुनिया में पूरी तरह से अकेली हो गई है।

मृतकों के नाम

रबाबेन ईश्वर भाई ठाकोर, किशन ईश्वरभाई ठाकोर, अशोक ईश्वरभाई ठाकोर और ईश्वरभाई राजाजी ठाकोर।

Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo
Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo
Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo
Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo
X
Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo
Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo
Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo
Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo
Death of two sons, including parents, due to the wreckage of the cargo
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..