राजकोट

--Advertisement--

स्वामी मंदिर का साधू युवती को भगा ले गया, पुलिस ने नहीं लिखी FIR

साधू और युवती दोनों ही गांव से लापता हैं, दोनों पहले भी एक-दूसरे के सम्पर्क में थे।

Dainik Bhaskar

Apr 19, 2018, 12:57 PM IST
केशवजीवनदास स्वामी। केशवजीवनदास स्वामी।

केशाेद। यहां के पंचाणा के स्वामी मंदिर के पुजारी एक हरिभक्त की जवान बेटी को भगाकर ले जाने की खबर है। जिस साधू पर यह आरोप है, उसका नाम कई अपराधोें में दर्ज है। ऐसा बताया गया है कि उक्त साधू 9 अप्रैल को हरिद्वार जाने के लिए निकला था, उसके दो दिन पहले ही युवती भी लापता है। दोनों पहले से ही एक-दूसरे के सम्पर्क में थे। पुलिस ने अभी तक इस मामले की एफआईआर दर्ज नहीं की है। जबलपुर एक्सप्रेस में रवाना हुआ…

पंचाणा गांव के स्वामीनारायण मंदिर के ट्रस्टी धनश्यामचरण दास जी ने बताया कि मंदिर का पुजारी साधू केशवजीवनदास जी स्वामी(पूर्वाश्रम का नाम सुरेश मनसुखभाई वघासिया) गत 9 अप्रैल को हरिद्वार जाने के लिए जबलपुर जाने के लिए निकला था। उसने कहा था कि हरिद्वार पहुंचकर फोन करूंगा। पर उसका फोन नहीं आया। उसका मोबाइल भी स्वीच ऑफ बता रहा है। दूसरी ओर गांव की एक हरिभक्त की युवा बेटी भी लापता है। इससे उसके भाई ने पुलिस थाने में अावेदन दिया है, जिसमें कहा गया है कि केशवजीवनदास स्वामी मेरी बहन को भगाकर ले गया है, ऐसा आशंका है। ऐसा माना जा रहा है कि युवती उसी साधू के साथ कहीं चली गई है। पुलिस ने अभी तक इस मामले की एफआईआर नहीं लिखी है। घटना को लेकर गांव वालों में रोष देखा जा रहा है।

गांव की बेटी को ले गया

लापता केशवजीवनदास स्वामी हमारे गांव की बेटी को ले गया है। लापता होने के पहले ही युवती साधू के सम्पर्क में थी। वह साधू इसके पहले भी कई अपराधों में शामिल हो चुका है। देवायत भाई, सरपंच, पंचाणा।

लापता साधू इसके पहले भी कई अपराधों में शामिल हो चुका है। इससे मंदिर ट्रस्ट ने उसे पहले ही निकाल-बाहर कर दिया होता, तो यह घटना नहीं होती। जयेंद्र भाई मोहन भाई गोटेया, हरिभक्त

स्वामीनारायण मंदिर। स्वामीनारायण मंदिर।
गांव की बेटी को भगा ले जाने पर रोष। गांव की बेटी को भगा ले जाने पर रोष।
पंचाणा मंदिर के ट्रस्टी धनश्यामचरणदासजी पंचाणा मंदिर के ट्रस्टी धनश्यामचरणदासजी
X
केशवजीवनदास स्वामी।केशवजीवनदास स्वामी।
स्वामीनारायण मंदिर।स्वामीनारायण मंदिर।
गांव की बेटी को भगा ले जाने पर रोष।गांव की बेटी को भगा ले जाने पर रोष।
पंचाणा मंदिर के ट्रस्टी धनश्यामचरणदासजीपंचाणा मंदिर के ट्रस्टी धनश्यामचरणदासजी
Click to listen..