Hindi News »Gujarat »Rajkot» To Save The Child The Father Ran 1 KM Back To The Leopard

बेटी के लिए चीते से भिड़ गया पिता, 1 KM तक पीछा कर छुड़ाया

इतनी मशक्कत के बाद भी बेटी काे बचाया नहीं जा सका।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Apr 11, 2018, 01:38 PM IST

  • बेटी के लिए चीते से भिड़ गया पिता, 1 KM तक पीछा कर छुड़ाया
    +2और स्लाइड देखें
    बच्ची को बचाने के लिए पिता रूपेश भाई चीते से भिड़ गए।

    ऊना। ऊना के मोठा गांव में बाडी इलाके में माता-पिता और बुआ के सामने ही घर में घुसकर चीता 18 महीने की बच्ची को उठाकर ले गया। तब पिता ने एक किलोमीटर तक चीते का पीछा कर बेटी को छुड़ाया। इस दौरान पिता ने बेटी को छुड़ाने के लिए चीते से भिड़ने का साहस दिखाया। इसके बाद भी बेटी को बचाया नहीं जा सका। तब पिता रूपेश भोजन कर रहे थेे…

    हीरा कारीगर रूपेश भाई गोस्वामी मोठा गांव में पत्नी ताराबेन के साथ रहते हैं। मंगलवार की रात को जब वे भोजन कर रहे थे, तब वहीं पर उनकी पत्नी ताराबेन और 18 महीने की बेटी रिद्धी भी थे। इतने में अचानक वहां चीता आ पहुंचा, वह रिद्धी को लेकर भाग गया। यह देखकर रुपेश भाई भोजन छोड़कर चीते के पीछे भागे। उन्होंने चीते पर हथियार से हमला किया, जिससे उसने रिद्धी को छोड़ दिया। रुपेश भाई ने खून से लथपथ रिद्धि को तुरंत अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना से पूरे परिवार में शोक व्याप्त हो गया।

    माता-पिता को मनाने गए थे

    रुपेश भाई के माता-पिता उससे नाराज थे। इसलिए रुपेश भाई अपने माता-पिता को मनाने के लिए पत्नी तारा और बेटी रिद्धि को लेकर उन्हें मनाने गए थे। वहां रात के समय भोजन के वक्त यह घटना हुई।

    ताराबेन प्रेग्नेंट है

    बेटी की मौत् मां ताराबेन पूरी तरह से टूट चुकी हैं। इस पर वे 8 महीने की प्रेग्नेंट हैं। ऐसे में आने वाली संतान को बचा पाना मुश्किल लग रहा है।

  • बेटी के लिए चीते से भिड़ गया पिता, 1 KM तक पीछा कर छुड़ाया
    +2और स्लाइड देखें
    आखिर बच्ची को बचाया नहीं जा सका।
  • बेटी के लिए चीते से भिड़ गया पिता, 1 KM तक पीछा कर छुड़ाया
    +2और स्लाइड देखें
    नाराज माता-पिता को मनाने गए थे रूपेश भाई।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Rajkot

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×