--Advertisement--

डेढ़ साल की बच्ची से छिन गया मां का साया, बड़े बेटे की जिंदगी बनाने निकले थे ससुर-बहू

बड़े बेटे का स्कूल में एडमिशन कराने का फार्म लेने निकले थे मां-दादा और पोता।

Danik Bhaskar | Jun 07, 2018, 03:27 PM IST
बच्चे की मां हेतलबेन और मृतक मंत्र (खड़ा हुआ) बच्चे की मां हेतलबेन और मृतक मंत्र (खड़ा हुआ)

सूरत (गुजरात) . शहर के सीता राम चौक पर बुधवार को दर्दनाक हादसा हुआ। तीन साल के बच्चे के लिए स्कूल का एडमिशन फॉर्म लेने निकले बाइक सवार लोगों को एक ट्रक ने कुचल दिया। हादसे में बच्चा, उसकी मां और बाइक चला रहे बच्चे के चचेरे दादा की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे के बाद ड्राइवर ट्रक छोड़कर फरार हो गया, जिसे कुछ देर बाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उसके खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाने का मामला दर्ज किया गया है। ऐसे हुआ हादसा...

- टेक्सटाइल कारोबारी विजय भाई का परिवार सरथाणा योगी चौक के योगी दर्शन अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर-106 में रहता है। दोपहर करीब 2 बजे उनकी पत्नी हेतलबेन और चाचा लालजी मोटरसाइकिल से बेटे मंत्र को लेकर दो किमी दूर स्थित एबीसी स्कूल जा रहे थे।

- उन्हें मंत्र के लिए एडमिशन फॉर्म लेना था। घर से महज 500 मीटर की दूर पर पहुंचे ही थे कि एक अनियंत्रित ट्रक ने उन्हें रौंद दिया। जिस अपार्टमेंट में स्कूल है, वहां इस परिवार का दूसरा फ्लैट भी है। एडमिशन फॉर्म लेने के बाद तीनों इसी फ्लैट में जाने वाले थे।

कई दिन बाद निकले थे घर से

- मृतक हेतलबेन की डेढ़ साल की बेटी भी है। उसने अपना भाई और मां खो दिया। परिवार मूल रूप से अमरोली का रहने वाला है। हेतलबेन के देवर ने बताया कि कई दिनों से मंत्र के एडमिशन के लिए बात चल रही थी।

- मृतक लालजी घर पर ही रहते थे। तीनों कई दिनों बाद घर से बाहर निकले थे। तीनों ट्रक के पिछले पहिए की चपेट में आ गए। चश्मदीदों ने बताया कि सड़क पर ज्यादा वाहन नहीं थे। ट्रक की स्पीड लगभग 40 से 50 की रही होगी।

मृतक लालजी भाई मृतक लालजी भाई

Related Stories