60 वर्षीय मरीज रोज वार्ड से गायब हो जाता था, एक दिन डॉक्टरों ने पकड़ लिया और जमकर फटकारा...यह देखकर अन्य मरीज बोल पड़े- इन्हें कुछ मत कहिए साहब

गुजरात न्यूज : बुजुर्ग का झोला चेक करते ही भावुक हो गए डॉक्टर

dainikbhaskar.com

Apr 16, 2019, 12:39 PM IST
Surat Gujarat News In Hindi : 60 Year Old Patient Disappeared From Ward Everyday Doctors Caught The Get Emotional

सूरत (गुजरात)। स्मीमेर अस्पताल में एक मरीज अक्सर वार्ड से गायब हो जाता था। इस बात को लेकर डॉक्टर जब उसे डांटने लगे तो अन्य मरीज उसके समर्थन में आ गए। मरीजों ने कहा- साहब, इन्हें कुछ मत कहिए, यह रोज बाहर जाते हैं, तो झोले में फल लेकर आते हैं और हम सबको देते हैं। डॉक्टरों ने उसकी शिकायत एक समाज सेवी से की, जिसने मरीज का झोला चेक किया, तो उसमें से फल निकले। इस पर डॉक्टरों ने पांडेसरा के रहने वाले 60 वर्षीय मरीज राजू पांडे की प्रशंसा की। वह सिक्युरिटी गार्ड की नौकरी करते हैं। डेढ़ महीने पहले एक्सीडेंट में उनका एक हाथ टूट गया था। वह इलाज के लिए स्मीमेर अस्पताल आए थे। तीन दिन पहले वह अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए, लेकिन वार्ड के मरीज अभी भी उन्हें याद करते हैं।

कुछ मरीजों को खाना तक नहीं मिल रहा था, मैंने बस मदद करने की कोशिश की

डेढ़ महीने पहले एक्सीडेंट में मेरा हाथ टूट गया था। स्मीमेर अस्पताल आया तो डॉक्टरों ने एडमिट कर प्लास्टर चढ़ा दिया। मैंने देखा कि वार्ड में भर्ती मरीजों को ठीक से खाना नहीं मिलता। कुछ ऐसे भी मरीज थे, जो दवाई भी नहीं खरीद सकते थे। उनकी मजबूरियां देखकर मुझे बहुत दुख हुआ। मेरे मन में ऐसे मरीजों की मदद करने का विचार आया। उसके बाद जब भी मुझे मौका मिलता मैं दिन में एक बार वार्ड सेनिकल जाता था। कुछ घंटे बाद वापस आकर मरीजों को फल देता था। 20-25 दिन तो किसी को पता नहीं चला। बाद में अस्पताल के स्टाफ ने मेरी शिकायत डॉक्टरों से कर दी। डॉक्टर मुझे फटकारने लगे। डॉक्टरों ने समाजसेवी सुभाष रावल से को इस बारे में बताया। एक दिन मैं बाहर से जैसे वार्ड में आया सुभाष, डॉक्टर और नर्स सब मुझे डांटने लगे। मेरा झोला चेक किया तो उसमें से फल निकले। इस पर वार्ड के अन्य मरीज बोल उठे कि यह हमारेलिए हर दिन फल लाते हैं। मुझे अच्छा लगा। मेरा एक्सीडेंट हुआ तो कोई मेरे साथ नहीं था। अकेले रहने का दर्द मुझे पता है। अस्पताल में भर्ती हुआ तो पता चला कि यहां मुझसे भी ज्यादा परेशान लोग हैं। हड्डी के मरीजों को डॉक्टर फल, दूध और अच्छा खाना खाने के लिए कहते हैं, लेकिन वे सक्षम नहीं हैं। मैंने सोचा कि क्यों न इनके लिए बाहर से फल लाया जाए। वार्ड बाहर जाने की इजाजत नहीं थी, इसलिए मौका पाकर चुपके से जाता था।

मरीज राजू की समाजसेवी से डॉक्टर करते थे शिकायत

समाजसेवी सुभाष रावल ने बताया कि डॉक्टर अक्सर राजू पांडे की शिकायत करते थे। कहते थे कि कैसा मरीज आ गया है, जो हर दिन वार्ड से गायब हो जाता है। इसका कुछ करिए या फिर इसे यहां से ले जाइए। एक दिन मैं डॉक्टरों के साथ गया और उन्हें पकड़ लिया। उनका झोला चेक किया तो उसमें से फल निकले, जो वह अन्य मरीजों के लिए रोज लाते थे। मरीज भी उनके समर्थन में आ गए। यह जानकर हम सब भावुक हो गए। उनकी इस सेवा भाव से हम सब प्रभावित हुए और उनकी प्रशंसा की।

X
Surat Gujarat News In Hindi : 60 Year Old Patient Disappeared From Ward Everyday Doctors Caught The Get Emotional
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना