--Advertisement--

गरीबी रेखा के तहत रोज बढ़ रहे हैं 26 परिवार, बनासकांठा में सबसे ज्यादा 2.36 लाख BPL

अमरेली में सर्वाधिक 4248, सूरत में 1 परिवार हुआ शामिल

Danik Bhaskar | Mar 24, 2018, 01:58 AM IST

गांधीनगर. विधानसभा के प्रश्नकाल के दौरान नेता प्रतिपक्ष परेश धानाणी ने कहा कि राज्य सरकार “सबका साथ-सबका विकास’ का दावा करती है, जबकि प्रदेश में गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले परिवारों की संख्या तेजी से बढ़ी है। प्रदेश में गरीबी रेखा के नीचे 26 परिवार रोज बढ़ रहे हैं।

सरकारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले दो साल में 31 लाख 46 हजार 413 परिवार गरीबी रेखा के नीचे थे। कांग्रेस विधायकों के अनुसार एक परिवार में कम से कम पांच सदस्यों की संख्या गिनें तो 1 करोड़ 57 लाख 32 हजार 65 लोग यानी कि कुल आबादी का चौथा हिस्सा गरीबी रेखा के नीचे है। बनासकांठा में सबसे ज्यादा 2 लाख 36 हजार 492 परिवार गरीबी रेखा के नीचे जी रहे हैं, जबकि सबसे कम पोरबंदर में 20,664 परिवार हैं। दो साल में सूरत में केवल एक परिवार गरीबी रेखा में शामिल हुआ।

जिलेवार बढ़े नए परिवार
जिला परिवार
अमरेली 4248
नवसारी 4120
राजकोट 3203
मोरबी 2299
जूनागढ़ 1017