--Advertisement--

गुजरात में बसता है 'छोटा अफ्रीका', यहां के अफ्रीकी मुस्लिम चुनाव में डालेंगे वोट

भारत में इस समुदाय के 19,514 लोग हैं। इनमें 8,661 गुजरात में हैं।

Danik Bhaskar | Dec 08, 2017, 02:13 AM IST
भारत में इस समुदाय के 19,514 लोग हैं। भारत में इस समुदाय के 19,514 लोग हैं।

सूरत. सोमनाथ से 25 किमी दूर गिर क्षेत्र में जांबूर गांव है। यहां हब्शी या सिद्दी आदिवासी समुदाय के लोग रहते हैं, जो मूलरूप से अफ्रीकी सूफी मुस्लिम हैं। भारत में इस समुदाय के 19,514 लोग हैं। इनमें 8,661 गुजरात में हैं। करीब 7 हजार यहीं रहते हैं। समुदाय के करीब 10% युवा इस बार पहले फेज में मतदान करेंगे। वे पहली बार मतदान को लेकर उत्साहित हैं। वे राजनीतिक चर्चा भी कर रहे हैं।

- सौराष्ट्र के इस इलाके में हैरत में डालने लोगों की भीड़ दिखाई देगी। आमतौर पर नेशनल जियोग्राफी या डिस्कवरी जैसे चैनलों पर दिखाई देने वाले हबसी लोग आप यहां देख सकते हैं।

- दक्षिण अफ्रीका में हबसी के रूप में पहचाने जाने वाले नीग्रो प्रजाति के लोग गुजरात में लंबे समय से रहते आ रहे हैं। अफ्रीका के नीग्रों की तरह रहने वाले यह प्रजाति शुद्ध रूप से सिर्फ गुजराती भाषा ही जानती है।

फोटो- ताराचंद गवारिया।

इस समुदाय के करीब 10% युवा इस बार पहले फेज में मतदान करेंगे। इस समुदाय के करीब 10% युवा इस बार पहले फेज में मतदान करेंगे।
ये लोग पहली बार मतदान को लेकर उत्साहित हैं। ये लोग पहली बार मतदान को लेकर उत्साहित हैं।