--Advertisement--

एक और शेर का शव मिला, सर्पदंश से हुई मौत; तीन महीने में तीसरे शेर की मौत

इससे पहले गत 25 फरवरी को राजुला के डुंगर क्षेत्र में एक शेर का शव मिला था।

Danik Bhaskar | Mar 31, 2018, 05:48 AM IST

अमरेली. अमरेली जिले के राजुला क्षेत्र में पिछले माह एक शेर का शव मिलने के बाद शुक्रवार को एक बार फिर खांभा तालुका से एक अन्य शेर का शव बरामद किया गया। उप मुख्य वन संरक्षक एम करूपासामी ने बताया कि करीब एक से डेढ़ साल उम्र वाले इस नर शेर का शव गोराणा गांव में एक बाड़ी (खेती के फार्म) के पास से बरामद किया गया है। पोस्टमार्टम में इसकी मौत जहरीले सांप के डसने से होने का खुलासा हुआ है।


इससे पहले गत 25 फरवरी को राजुला के डुंगर क्षेत्र में एक शेर का शव मिला था। उससे पहले 18 फरवरी को पड़ोसी जूनागढ़ जिले के मालिया हाटिना तालुका में मेघल नदी से एक शेरनी का शव बरामद किया गया था। पिछले 24 घंटे के दौरान निकटवर्ती गिर सोमनाथ जिले के दो अलग अलग स्थानों पर कुंए से दो मादा तेंदुओं का शव बरामद किया गया।


ज्ञातव्य है कि गुजरात हाई कोर्ट ने हाल में शेरों की मौत की घटनाओं को लेकर राज्य और केंद्र सरकार से इस पर रोक के लिए किए जा रहे उपायों आदि के बारे में एक विस्तृत रिपोर्ट तलब की थी। वन मंत्री ने पिछले दिनों गुजरात विधानसभा में बताया था कि पिछले दो साल में कुल 186 शेरों की मौत हुई जिनमें से 32 अप्राकृतिक कारणों से मरे हैं।

दो मादा तेंदुओं के शव कुएं से बरामद
गिर के जंगलों के निकटवर्ती गिर सोमनाथ जिले के दो अलग-अलग गांवों में खुले कुएं में गिरने से पिछले 24 घंटे में दो मादा तेंदुओं की मौत हो गई। वन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि दोनों मृत जानवर दो से तीन साल उम्र की थीं। इनमें से एक का शव वेरावल तालुका के उकाडिया गांव में दिनेश मूलाभाई नाम के एक किसान की बाड़ी के खुले कुएं से जबकि दूसरी का शव सूत्रापाड़ा के लाठी गांव में सहकारी मंडली के कुएं से बरामद किया गया।