--Advertisement--

कापोद्रा और सावजी कोराड ब्रिज से ट्रैफिक लोड होगा कम, 130 करोड़ खर्च होंग

वराछा-उत्राण को जोड़ने के लिए तापी पर बनेगा ब्रिज

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 05:55 AM IST

सूरत. वराछा और उत्राण को जोड़ने के लिए तापी नदी पर 130 करोड़ रुपए की लागत से ब्रिज बनाया जाएगा। इस ब्रिज के लिए मनपा ने टेंडर मंगवा लिए हैं। आने वाले दिनों में इस पर चर्चा कर वर्क ऑर्डर दे दिया जाएगा। इस ब्रिज का काम फरवरी 2018 में शुरू हो सकता है। 2021 तक इसे पूरा कर लिया जाएगा। बुधवार को होने वाली मनपा की बजट बैठक में ब्रिज विभाग अपने खर्च का खाका मनपा आयुक्त के सामने पेश करेगा। ब्रिज सेल पिछले साल के मुकाबले इस साल अपने बजट में करीब 50 करोड़ रुपए ज्यादा का खर्च पेश करेगा। इसके अंतर्गत करीब आठ नए ब्रिजों के निर्माण का प्रस्ताव है।

- पिछले साल ब्रिज सेल ने करीब 258 करोड़ रुपए का खर्चा मुख्य बजट में पेश किया था, जबकि इस बार करीब 310 करोड़ रुपए खर्च करने का प्रपोजल तैयार कर रही है।

- बजट के लिए मनपा ने सभी विभागों से खर्च का खाका मंगाया। बजट बैठक 22 दिसंबर से शुरू हुई और 28 तारीख तक चलेगी।

- आठ घंटे की बैठक में रोजाना करीब 4 विभाग या जोनों के खर्च पर चर्चा होती है।

4 लेन का होगा नया ब्रिज, वराछा के लोगों को होगी सहूलियत

करीब एक किलोमीटर लंबा चार लेन का ब्रिज उत्राण स्थित रिवर हेवन सोसायटी से शुरू होगा और श्रीरामनगर सोसायटी तक जाएगा। बनेगा जो वराछा वाटर वर्क के पास से गुजरेगा। यह ब्रिज सावजी कोराड ब्रिज और कापोद्रा ब्रिज पर से ट्रैफिक कम करने के लिए बनाया जाएगा। मनपा अधिकारियों का कहना है कि इस ब्रिज के बन जाने से मोटा वराछा और नाना वराछा के लोगों को सहूलियत मिलेगी। उत्राण से आते समय ब्रिज पर चार लेन होंगे जो वराछा वाटर वर्क के पास से दो भागों में बंट जाएगा। वराछा में दोनों तरफ से करीब 4 मीटर के दो लेन वराछा रोड पर उतारे जाएंगे। कलाकुंज के पास भी दो स्लोप उतारा जाएगा। इससे वराछा जाने वाले वराछा रोड पर उतर सकेंगे और कलाकुंज जाने वाले यात्री भी आसानी से अपने गंतव्य तक सकेंगे।

फरवरी में शुरू हो सकता है नया ब्रिज बनाने का काम
मनपा अधिकारियों का कहना है कि शुरुआती दौर में इस ब्रिज का ट्रैफिक करीब 3000 गाड़ी प्रति घंटा हो सकता है। ब्रिज निर्माण के लिए मनपा ने टेंडर मंगवा लिए हैं। इसे सामान्य सभा में पेश किया जाएगा। इस ब्रिज का काम फरवरी से शुरू कर दिया जाएगा। उसकेे बाद चार साल में इसे पूरा किया जाएगा।

दो ब्रिजों से ट्रैफिक कम करेगा नया ब्रिज
तापी नदी पर वराछा और उत्राण को जोड़ने के लिए ब्रिज की योजना बनाने से पहले कापोद्रा और सावजी कोराड ब्रिज से आवागमन करने वाले यात्रियों का संख्या जानी। इसके अनुसार कापोद्रा ब्रिज पर पीक ऑवर में हर घंटे करीब 4300 गाड़ियां और सावजी कोराड ब्रिज से करीब 10 हजार गाड़ियां गुजरती हैं। दोनों ही ब्रिजों के बीच करीब चार किलोमीटर का फर्क है। दोनों के बीच इस नए ब्रिज को बनाया जाएगा। इससे दोनों ब्रिजों पर लोड कम होगा।