Hindi News »Gujarat »Surat» Businessman Son Became Monk

कारोबारी के 17 साल के बेटे ने ली दीक्षा, समारोह में पहुंचे 6 हजार लोग

अब वह मुनि निर्ग्रंथ विमलसागर महाराज के नाम से जाने जाएंगे।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 29, 2018, 10:12 AM IST

  • कारोबारी के 17 साल के बेटे ने ली दीक्षा, समारोह में पहुंचे 6 हजार लोग
    +1और स्लाइड देखें

    सूरत.कपड़ा व्यापारी मनोज श्रीमाल के 17 साल के बेटे निमित ने शनिवार को दीक्षा ले ली। अब वह मुनि निर्ग्रंथ विमलसागर महाराज के नाम से जाने जाएंगे। निमित ने आचार्य विमल सागर सूरीश्वर महाराज के सानिध्य में सुबह 6 बजे वेसू रोड स्थित रघुवीर सिल्वर स्टोन, श्याम पैलेस के पास दीक्षा दी। इस समारोह में निमित के परिजनों के साथ जैन धर्म के लगभग 6 हजार लोग उपस्थित थे। इनमें से 3 हजार श्रद्धालु शहर के बाहर से आए थे।

    श्रीश्रीमाल परिवार की यह पहली दीक्षा थी। एक दिन पहले शुक्रवार को निमित की वर्षी दान शोभायात्रा निकाली गई थी। शोभायात्रा मनोज श्रीश्रीमाल के निवास स्थान पार्ले पॉइंट स्थित कुंतुनाथ टॉवर से निकली और शहर की विभिन्न जगहों से होते हुए समारोह स्थल पर पहुंची। इस दौरान जरूरतमंद लोगों को वस्त्रदान किया गया। बाजे-गाजे के साथ निमित का वरघोड़ा निकाला गया।

  • कारोबारी के 17 साल के बेटे ने ली दीक्षा, समारोह में पहुंचे 6 हजार लोग
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Surat News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Businessman Son Became Monk
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×