--Advertisement--

कारोबारी के 17 साल के बेटे ने ली दीक्षा, समारोह में पहुंचे 6 हजार लोग

अब वह मुनि निर्ग्रंथ विमलसागर महाराज के नाम से जाने जाएंगे।

Dainik Bhaskar

Jan 29, 2018, 10:12 AM IST
businessman son became monk

सूरत. कपड़ा व्यापारी मनोज श्रीमाल के 17 साल के बेटे निमित ने शनिवार को दीक्षा ले ली। अब वह मुनि निर्ग्रंथ विमलसागर महाराज के नाम से जाने जाएंगे। निमित ने आचार्य विमल सागर सूरीश्वर महाराज के सानिध्य में सुबह 6 बजे वेसू रोड स्थित रघुवीर सिल्वर स्टोन, श्याम पैलेस के पास दीक्षा दी। इस समारोह में निमित के परिजनों के साथ जैन धर्म के लगभग 6 हजार लोग उपस्थित थे। इनमें से 3 हजार श्रद्धालु शहर के बाहर से आए थे।

श्रीश्रीमाल परिवार की यह पहली दीक्षा थी। एक दिन पहले शुक्रवार को निमित की वर्षी दान शोभायात्रा निकाली गई थी। शोभायात्रा मनोज श्रीश्रीमाल के निवास स्थान पार्ले पॉइंट स्थित कुंतुनाथ टॉवर से निकली और शहर की विभिन्न जगहों से होते हुए समारोह स्थल पर पहुंची। इस दौरान जरूरतमंद लोगों को वस्त्रदान किया गया। बाजे-गाजे के साथ निमित का वरघोड़ा निकाला गया।

businessman son became monk
X
businessman son became monk
businessman son became monk
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..