--Advertisement--

अहमदाबाद में बिजनेसमैन की मंदिर में गोली मारकर हत्या

सुरेशभाई शाह पर 2009 में भी हुई थी फायरिंग

Danik Bhaskar | Mar 11, 2018, 07:16 AM IST

अहमदाबाद. अहमदाबाद शहर के वासणा क्षेत्र में व्यापारी की शनिवार को 11.30 बजे विश्वेश्वर महादेव मंदिर में अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि लावण्य सोसायटी के निकट मंदिर में दर्शन करने आए सुरेशभाई शाह की अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी और फरार हो गए। पुलिस को धंधे की रंजिश में सोपारी देकर व्यापारी की हत्या कराए जाने का अनुमान है।

पुलिस ने बताया कि हत्यारे शाहपुर में किराए के मकान में रहते थे। जानकारी के अनुसार वासणा म्यूनिसिपल गार्डन के पासे स्पर्श फ्लैट की पांचवीं मंजिल पर पिछले आठ महीने से रह रहे खाडिया के मांडवी की पोल के मूल निवासी सुरेश जयंतिभाई शाह (59) ट्रांसपोटर्स के धंधे से जुड़े थे। सुरेशभाई और उनकी पत्नी निमिताबेन रोज ं मंदिर में दर्शन करने जाते थे।

शनिवार को सुरेशभाई अकेले ही मंदिर में दर्शन करने गए थे। सुरेशभाई हाथ में लोटा लेकर जलाभिषेक करने जा रहे थे तभी पीछे से अज्ञात व्यक्ति ने लाेहे की राॅड से हमला किया इसी दौरान दूसरे व्यक्ति ने फायरिंग कर दी। गोली लगते ही सुरेशभाई वहीं ढेर हो गए। फायरिंग की आवाज सुनकर लोग जमा हो गए।

राजनीति में भी पूरी तरह सक्रिय थे सुरेश शाह

सुरेश शाह धंधे के अलावा राजनीति में भी सक्रिय थे। वे शहर कांग्रेस संगठन में पदाधिकारी भी रह चुके हैं। एक महीने पहले हुई बेटी की शादी में कई नेता और पदाधिकारी भी शामिल हुए थे। धंधे की रंजिश में 15 अक्टूबर 2009 में किराए के आरोपी साबीर हुसैन उर्फ साबीर मैडम और आसिफ पठान ने सुरेश शाह पर पालडी, महालक्ष्मी चौराहे के पास फायरिंग की थी। जिसमें उनके कंधे को छूते हुए गोली निकल गई थी।

सुरेश माली के रूप में भी जानते थे लोग

मृतक सुरेश शाह को लोग सुरेश माली के रूप में जानते थे। कुछ समय पहले उन्होंने शिवरंजनी सोसाइटी के पास बंगला खरीदा था। बंगले में काम चल रहा था इसलिए सुरेश वासणा के पास स्पर्श फ्लैट में रह रहे थे। यह भी उनकी मालिकी का ही है। उनके परिवार में एक पुत्र कुश और पुत्री कृष्णा दो संतान हैं। पुत्र की नारोल में प्लास्टिक का दाना बनाने की फैक्ट्री है। जबकि पुत्री की एक महीने पहले ही शादी हुई थी।

कांट्रैक्ट किलिंग की आशंका

मृतक सुरेश की धंधे को लेकर अमरेली के राजेन्द्रसिंह शेखवा के साथ रंजिश थी। जानकारी के अनुसार अनवर और सलीम नामक दो व्यक्तियों के अमरेली से अहमदाबाद आने और सुरेश की रैकी कर हमला करने की आशंका है।