--Advertisement--

इंडियन ड्रेस में अक्षरधाम मंदिर पहुंचे कनाडाई PM, घुसने से पहले खुद उतारे बेटे के सैंडल

एक आम पिता की तरह घुटनों पर बैठकर उन्हें ऐसा करते देख वहां मौजूद लोग भी हैरान थे।

Danik Bhaskar | Feb 20, 2018, 02:28 AM IST
क आम पिता की तरह घुटनों पर बैठक क आम पिता की तरह घुटनों पर बैठक

अहमदाबाद‌. गुजरात के अहमदाबाद की यात्रा पर आए कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो इस दौरान साबरमती आश्रम से लेकर आईआईएम समेत कई जगहों पर गए। गांधीनगर में अक्षरधाम मंदिर के दर्शन करने भी पहुंचे। भारतीय रीति-रिवाज से परिचित ट्रूडो ने अपने छोटे बेटे के पैर से सैंडल उतारे फिर मंदिर में प्रवेश किया। एक आम पिता की तरह घुटनों पर बैठकर उन्हें ऐसा करते देख वहां मौजूद लोग भी हैरान थे।

अहमदाबाद पहुंचने वाले दुनिया के तीसरे प्रधानमंत्री बने ट्रूडो

हफ्ते भर के भारत दौरे पर आए कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो सोमवार को अहमदाबाद के साबरमती आश्रम पहुंचे। ट्रूडो के साथ उनकी पत्नी सोफी और तीनों बच्चे भी थे। यहां उन्होंने चरखा चलाया। यहां वे भारतीय लिबास में नजर आए। वे अक्षरधाम मंदिर भी गए। ट्रूडो ने आश्रम की विजिटर्स बुक में लिखा कि ये बहुत सुंदर जगह है, जो शांति, सत्य और सद्भावना को समेटे हुए है। ट्रडो 6 महीने में अहमदाबाद पहुंचने वाले दुनिया के तीसरे प्रधानमंत्री हैं।

वर्ल्ड मीडिया

जस्टिन ट्रूडो की यात्रा पर वर्ल्ड मीडिया का कहना है कि भारत ने कनाडाई पीएम को नीचा दिखाया है। ट्रूडो को दिल्ली एयरपोर्ट पर रिसीव करने जूनियर एग्रीकल्चर मिनिस्टर को भेजा। जबकि, इससे पहले पीएम मोदी कई राष्ट्राध्यक्षों को रिसीव करने के लिए प्रोटोकॉल तोड़ चुके हैं।

IIM अहमदाबाद पहुंच ट्रूडो बोले- जनता मूर्ख नहीं होती

जस्टिन ट्रूडो ने आईआईएम अहमदाबाद में स्टूडेंट्स को अपने संबोधन और उनके साथ चर्चा के दौरान कहा कि ज्यादा-से-ज्यादा देशों को अपने यहां आने वाले लोगों का स्वागत करने के लिए और ज्यादा कदम उठाने चाहिए। उन्होंने कहा, "ऐसा इसलिए नहीं होना चाहिए क्योंकि ऐसा करना ही सही है। बल्कि, यह इसलिए होना चाहिए क्योंकि जो भी शरणार्थी अपने देश में होने वाले परेशानी से बचने और बेहतर जीवन की उम्मीद में दूसरे देश में आते हैं, वे उनका स्वागत करने वाले देश के प्रति बेहद कृतज्ञ होते हैं।"

इस दौरान मीडिया के बारे में चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि कामयाब लोकतंत्र के लिए आजाद मीडिया एक जरूरी चीज है। उन्होंने कहा कि वे खुद कई बार मीडिया के बर्ताव से निराश हो जाते हैं, लेकिन मीडिया सरकार को उसकी गलती बताने की अहम जिम्मेदारी भी निभाता है। उन्होंने कहा कि जनता मूर्ख नहीं होती।

भारत-कनाडा में हर साल 43 हजार करोड़ रु. का ट्रेड

कनाडा की कुल आबादी 3.6 करोड़ रु. है। इसमें करीब 14 लाख भारतीय हैं। दोनों देशों में सालाना 43,140 करोड़ रु. का कारोबार होता है। एक साल में कनाडा ने भारत में करीब 96 हजार करोड़ रु. का इनवेस्ट किया है। कनाडा मोती, आर्गेनिक केमिकल्स, टेक्सटाइल, बाइक भारत से इंम्पोर्ट करता है।