--Advertisement--

गुजरात: सांसद ने सिर्फ 1 साल में ही पूरे गांव का कर दिया कायापलट

चिखली गांव एक साल पहले तक पानी और जरूरी सुविधाओं के लिए तरसता था, लेकिन अब आदर्श गांव बनने की राह पर।

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 02:27 PM IST
गांव में चमचमाती सड़कें। गांव में चमचमाती सड़कें।

नवसारी. गुजरात का चिखली गांव दो साल पहले तक पानी और जरूरी सुविधाओं के लिए तरसता था, लेकिन अब वह आदर्श गांव बनने की राह पर बढ़ चला है। महज एक साल के भीतर यहां सभी 450 घरों में पानी के नल के कनेक्शन लग गए हैं। हर घर में शौचालय भी है। सड़कों पर सीसीटीवी कैमरे लग चुके हैं। जिले का पहला रिवरफ्रंट भी तैयार हो चुका है। कायापलट के पीछे यहां के सांसद सीआर पाटिल की बड़ी भूमिका...

नवसारी जिले के इस गांव के कायापलट के पीछे यहां के सांसद सीआर पाटिल की बड़ी भूमिका है। पाटिल ने एक साल पहले चिखली गांव को गोद लिया था। इसके बाद यह गांव विकास की राह पर सरपट दौड़ पड़ा। पाटिल के प्रयासों से महज एक साल में इस गांव पर तीन करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं। इसके अलावा करीब ढाई करोड़ रुपए ग्राम पंचायत ने खर्च किए। नतीजा यह रहा कि जो गांव पहले खराब सड़क की वजह से आसपास से कटा रहता था। अब वह नजदीकी गांवों के साथ-साथ जिला मुख्यालय से पक्की सड़क से जोड़ा जा चुका है। सड़क के किनारों पर ब्लॉकिंग की गई है ताकि कीचड़ न हो।

गांव की सरपंच ज्योति बेन ने बताया कि गांव के विकास में पर्यावरण का खास ध्यान रखा गया है। सीवेज का गंदा पानी नदी में न जाए, इसके लिए फिल्टर प्लांट लगाया गया है। गांव और सड़क के किनारे पौधारोपण किए गए हैं। शवों को जलाने के लिए इलेक्ट्रिक मशीन लगाई गई है। आंगनवाड़ी में आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं।

ऐसे मिला गांव को नया रूप
- 20 लाख खर्च से 450 घरों में लगाए गए नल के कनेक्शन।
- 172 शौचालय बनवाए गए 2 लाख रुपए खर्च कर।
- 10 लाख खर्च कर लगवाए गए दर्जनों सीसीटीवी कैमरे।
- 06 लाख खर्च कर किया गया पौधारोपण।
- 20 लाख खर्च किए गए स्वच्छता के लिए।
- 20 लाख खर्च कर बनाया रिवर फ्रंट।

आगे की स्लाइड्स में देखें चीखली गांव की PHOTOS...

चीखली गांव का रेफरल हॉस्पिटल। चीखली गांव का रेफरल हॉस्पिटल।
गांव में बनी पक्की सड़कें। गांव में बनी पक्की सड़कें।
नदी पार करने के लिए बनाई स्पेशल बोट। नदी पार करने के लिए बनाई स्पेशल बोट।
सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यक्रमों के लिए सारी सुविधाओं से लैस ‘दिनकर हॉल’। सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यक्रमों के लिए सारी सुविधाओं से लैस ‘दिनकर हॉल’।
वसुधारा डेयरी। वसुधारा डेयरी।
गांव में पार्क की व्यवस्था। गांव में पार्क की व्यवस्था।
हर घर में नल, चौबीसों घंटे पानी की व्यवस्था। हर घर में नल, चौबीसों घंटे पानी की व्यवस्था।
शिव मंदिर (अभी) और इनसेट में पहले की फोटो। शिव मंदिर (अभी) और इनसेट में पहले की फोटो।
शिव मंदिर (अभी) और इनसेट में पहले की फोटो। शिव मंदिर (अभी) और इनसेट में पहले की फोटो।
सांसद सीआर पाटिल सांसद सीआर पाटिल
X
गांव में चमचमाती सड़कें।गांव में चमचमाती सड़कें।
चीखली गांव का रेफरल हॉस्पिटल।चीखली गांव का रेफरल हॉस्पिटल।
गांव में बनी पक्की सड़कें।गांव में बनी पक्की सड़कें।
नदी पार करने के लिए बनाई स्पेशल बोट।नदी पार करने के लिए बनाई स्पेशल बोट।
सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यक्रमों के लिए सारी सुविधाओं से लैस ‘दिनकर हॉल’।सांस्कृतिक व सामाजिक कार्यक्रमों के लिए सारी सुविधाओं से लैस ‘दिनकर हॉल’।
वसुधारा डेयरी।वसुधारा डेयरी।
गांव में पार्क की व्यवस्था।गांव में पार्क की व्यवस्था।
हर घर में नल, चौबीसों घंटे पानी की व्यवस्था।हर घर में नल, चौबीसों घंटे पानी की व्यवस्था।
शिव मंदिर (अभी) और इनसेट में पहले की फोटो।शिव मंदिर (अभी) और इनसेट में पहले की फोटो।
शिव मंदिर (अभी) और इनसेट में पहले की फोटो।शिव मंदिर (अभी) और इनसेट में पहले की फोटो।
सांसद सीआर पाटिलसांसद सीआर पाटिल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..