Hindi News »Gujarat »Surat» Company Needs Time To Remove Tea Bag Staple Pin

टी-बैग के स्टेपल पिन को हटाने कंपनी ने मांगे 18 महीने, हाथ से लगते हैं 15 Sec

कंपनी की मांग को ध्यान में रखते हुए फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ने 18 महीने का समय दे दिया है।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 21, 2017, 08:01 AM IST

टी-बैग के स्टेपल पिन को हटाने कंपनी ने मांगे 18 महीने, हाथ से लगते हैं 15 Sec

गांधीनगर.फूड सेफ्टी एंड स्टेंडर्ड अथॉरिटी ने टी बैग बनाने वाली कंपनी को उस पर लगे स्टेपल पिन को हटाने का निर्देश दिया है। टी बैग पर लगा स्टेपल पिन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। निर्देश पर 1 जनवरी 2018 से अमलवारी होने वाली थी पर टी एसोसिएशन ने पिन हटाने के लिए 18 महीने का समय मांगा है। खास बात तो यह है कि चाय पीने के शौकीनों को टी बैग के स्टेपल पिन को हटाने में केवल 15 सेकेंड समय लगता है। जबकि, कंपनी को इसे हटाने के लिए 18 महीने का समय चाहिए। कंपनी की मांग को ध्यान में रखते हुए फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ने 18 महीने का समय दे दिया है। अब इस पर 1 जनवरी 2018 के बदले 30 जून 2019 से अमल होगा।

बिना स्टेपल टी बैग बनाने की क्या है तकनीक ?

टी बैग से स्टेपल पिन हटाने के बाद बैग और डोरी को जोड़ने के लिए आईएमए सी-27 नामक सिलाई मशीन का उपयोग होगा। इसकी मदद से कपड़े की तरह सिलाई करके टी बैग और डोरी को एक में जोड़ा जाएगा।

पुराने परिपत्र को रद्द कर नया जारी किया गया
- टी बैग से स्टेपल पिन हटाने के लिए 24 जुलाई 2017 को अधिसूचना जारी कर 1 जनवरी 2018 से प्रतिबंध लगाया जाना था पर अमलीकरण से 11 दिन पहले टी एसोसिएशन ने समय बढ़ाने की मांग की। एसोसिएशन की मांग को ध्यान में रखते हुए फूड डायरेक्टर राजेश सिंह ने नई अधिसूचना जारी कर टी बैग से पिन हटाने केल ए 30 जून 2019 तक का समय दिया है।

- फूड एंड ड्रग्स कंट्रोल गांधीनगर के कमिश्नर एचजी कोशिया ने बताया कि 18 महीने तक लोगों को स्टेपल पिन निकालने के लिए 15 से 18 सेंकेंड बिगाड़ना होगा। वहीं गुजरात होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष नरेंद्र सोमाणी ने कहा कि कंपनी भले ही डेढ़ साल का समय ले रही है पर होटलों और रेस्टोरेंट में बिना स्टेपल पिन वाले टी बैग के उपयोग पर जोर दिया जा रहा है।

स्टेपल पिन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है
टी बैग की स्टेपल पिन एल्युमिनियम की होती है। बैग को पिन के साथ गर्म या ठंडे पानी में अधिक समय तक रखने से पेनिक ऑक्साइड बनने की संभावना रहती है। इस धातु से गर्म होने पर पीएमपीएम लेवल पर जहर निकलता है जो लोगों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। ऐसी चाय लगातार पीने से कई प्रकार के रोग हो सकते हैं।
- डॉ. जतिन परीख, एसोसिएट प्रोफेसर केमेस्ट्री, एमजी साइंस इंस्टीट्यूट

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Surat News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ti-baiga ke stepl pin ko htaane kampany ne maange 18 mhine, haath se lgate hain 15 Sec
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×