Hindi News »Gujarat »Surat» Dalit Self Immolation Case Victim Bhanubhai Funeral

दलित आत्मदाह मामला: 64 घंटे बाद भारी सिक्युरिटी के बीच हुआ अंतिम संस्कार

अंतिम संस्कार में पहली बार भानूभाई की पत्नी सहित भारी संख्या में महिलाएं भी मौजूद रहीं।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 20, 2018, 05:18 AM IST

  • दलित आत्मदाह मामला: 64 घंटे बाद भारी सिक्युरिटी के बीच हुआ अंतिम संस्कार
    +4और स्लाइड देखें
    भानूभाव के शव को 64 घंटे बाद सोमवार को सुबह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ अंतिम संस्कार के लिए ऊंझा ले जाया गया।

    ऊंझा(गुजरात).पाटण के कलेक्ट्रेट परिसर में जमीन के मुद्दे पर आत्मदाह करने वाले दलित सामाजिक कार्यकर्ता भानूभाई वणकर के शव को परिवार ने दो दिन के बाद स्वीकार किया। भानूभाव के शव को 64 घंटे बाद सोमवार को सुबह कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ अंतिम संस्कार के लिए ऊंझा ले जाया गया। मृतक के अंतिम दर्शन करने के लिए दलित समाज के लोग उमड़ पड़े।

    भारी तादाद में सिक्युरिटी फोर्स था तैनात

    सोमवार को सुबह 8.45 बजे मृतक भानूभाई के शव को कड़ी सुरक्षा के साथ गांधीनगर से महेसाणा के रास्ते ऊंझा लाया गया। कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए डीवाईएसपी हरेश दुधात की देखरेख में 3 पीआई, 8 पीएसआई, 7 एएसआई, महिला पुलिस सहित मोबाइल वैन तैनात रहा। चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। ऊंझा के श्मशान घाट में बौद्ध विधि से किए गए अंतिम संस्कार में पहली बार भानूभाई की पत्नी सहित भारी संख्या में महिलाएं भी मौजूद रहीं।

    64 घंटे बाद लिखित मांग के बाद माना परिवार

    बता दें कि दलित परिवार को जमीन के मुद्दे पर न्याय दिलाने के लिए गुरुवार को आत्मदाह करने वाले सामाजिक कार्यकर्ता भानूभाई की शुक्रवार को रात 9.15 बजे इलाज के दौरान मौत हो गई थी। मृत्यु के 64 घंटे बाद लिखित मांग स्वीकार होने के बाद सोमवार को सुबह 6.30 बजे परिवार के शव स्वीकार किया।

  • दलित आत्मदाह मामला: 64 घंटे बाद भारी सिक्युरिटी के बीच हुआ अंतिम संस्कार
    +4और स्लाइड देखें
    आत्मदाह करने वाले दलित भानूभाई की अंतिम यात्रा में उमड़े दलित समाज के लोग।
  • दलित आत्मदाह मामला: 64 घंटे बाद भारी सिक्युरिटी के बीच हुआ अंतिम संस्कार
    +4और स्लाइड देखें
    मृतक के अंतिम दर्शन करने के लिए दलित समाज के लोग उमड़ पड़े।
  • दलित आत्मदाह मामला: 64 घंटे बाद भारी सिक्युरिटी के बीच हुआ अंतिम संस्कार
    +4और स्लाइड देखें
  • दलित आत्मदाह मामला: 64 घंटे बाद भारी सिक्युरिटी के बीच हुआ अंतिम संस्कार
    +4और स्लाइड देखें
    ऊंझा के श्मशान घाट में बौद्ध विधि से किए गए अंतिम संस्कार में पहली बार भानूभाई की पत्नी सहित भारी संख्या में महिलाएं भी मौजूद रहीं।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×