--Advertisement--

नर्मदा का बहाव जारी रखने करजण डैम से छोड़ा 1200 क्यूसेक पानी

चैत्री पूर्णिमा पर पानी छोड़ने के बाद श्रद्धालुओं ने लगाई नर्मदा में डुबकी

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 04:56 AM IST
सांकेति तस्वीर। सांकेति तस्वीर।

राजपीपला. गर्मी में नर्मदा नदी में पानी का बहाव जारी रखने के लिए करजण डैम से पानी छोड़ने का सरकार ने निर्णय लिया है। शुक्रवार को करजण जलाशय के गेट नंबर-5 से 900 क्यूसेक पानी नर्मदा में छोड़ा गया। चैत्री पूर्णिमा पर नर्मदा में स्नान करना सबसे पुण्य माना जाता है। करजण जलाशय से पानी छोड़े जाने से श्रद्धालुओं ने नर्मदा में स्नान किया।


करजण डैम से छोड़ा जाने वाला पानी सीधे नर्मदा नदी में आ रहा है। करजण डैम के साथ-साथ नर्मदा नदी में पानी के बहाव को जारी रखने के लिए सरकार की ओर से यह निर्णय लिया गया है। करजण डैम की क्षमता 107.591 मीटर है वर्तमान में जलाशय में 61.81 फीसदी तक पानी है। सरकार के आदेशानुसार करजण डैम से नर्मदा में पानी छोड़ा जाएगा।

निर्देश के बाद पानी छोड़ा

करजण जलाशय के गेट-5 से पहले 900 क्यूसेक पानी छोड़ा गया। इसके बाद इसे बढ़ाकर 1200 क्यूसेक कर दिया गया है। डैम में 61.81 फीसदी पानी है। डैम का पानी नर्मदा में छोड़ने से कोई परेशानी नहीं होगी। सरकार की ओर से 900 से 1200 क्यूसेक तक पानी छोड़ने का आदेश दिया गया है। डैम से नर्मदा में पानी लगातार छोड़ा जाएगा।
- एवी मोहाले, अधिकारी, करजण डैम

सांकेति तस्वीर। सांकेति तस्वीर।