--Advertisement--

कच्छ में 4.8 तीव्रता का भूकंप, घरों से बाहर आए लोग, कोई जनहानि नहीं

6 साल बाद फिर झटके: भचाऊ से 22 किमी दक्षिण-पूर्व की ओर था मुख्य केंद्र

Danik Bhaskar | Mar 30, 2018, 05:50 AM IST
मोरबी और उना समेत सौराष्ट्र के दूरदराज के इलाकों तक महसूस हुए हल्के झटके । मोरबी और उना समेत सौराष्ट्र के दूरदराज के इलाकों तक महसूस हुए हल्के झटके ।

गांधीनगर. कच्छ जिले तथा आसपास में गुरुवार को तड़के मध्यम से कुछ अधिक तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया। भूकंप अनुसंधान केंद्र गांधीनगर से मिली रिपोर्ट के अनुसार सुबह चार बज कर तीन मिनट पर महसूस किए गए भूकंप के एक झटके की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 4.8 थी। इसका अधिकेंद्र कच्छ जिले के भचाऊ से 22 किलोमीटर पूर्व दक्षिणपूर्व की ओर था। इसे मोरबी और उना समेत सौराष्ट्र के दूरदराज के इलाकों तक महसूस किया गया। तड़के उठने वाले और उस समय सो रहे कई लोग घरों से बाहर निकल गए। हालांकि इससे जानमाल के नुकसान की कोई सूचना नहीं है।


इसके तीन मिनट बाद भी 3.5 तीव्रता का एक और झटका महसूस किया गया और इसका अधिकेंद्र भी उससे मात्र एक किमी की दूरी पर स्थित था। इससे पहले मध्य रात्रि के बाद भी 3.1 तीव्रता का एक झटका रात्रि 12 बज कर 16 मिनट पर महसूस किया गया था। इसके बाद बेहद अल्प तीव्रता के तीन अन्य झटके भी दर्ज किए गए।

मार्च महीने में आए थे 65 झटके
इस साल जनवरी से अब तक प्रदेश के अलग-अलग जिलों में कुल 73 झटके महसूस किए गए हैं जिनमें से अधिकतर हल्की तीव्रता के थे। इनमें से अधिकतर कच्छ के आसपास केंद्रित थे। अकेले मार्च माह में अब तक 65 झटके महसूस किए गए हैं। इस साल अब से पहले केवल दो बार ही चार से अधिक तीव्रता के झटके 16 जनवरी और 25 फरवरी को महसूस किए गए थे। कच्छ जिले के भचाऊ और खाबड़ा के निकट केंद्रित इन दोनों झटकों की तीव्रता 4.1 थी। ज्ञातव्य है कि कच्छ को भूकंप के दृष्टिकोण से बेहद संवेदनशील इलाका माना जाता है।