--Advertisement--

विधानसभा चुनाव : 17763 चुनाव कर्मी पोस्टल बैलेट से करेंगे मतदान, अलग से है व्यवस्था

विधानसभा चुनाव में लगे कर्मचारियों को मतदान करने के लिए अलग व्यवस्था की गई है।

Danik Bhaskar | Dec 03, 2017, 03:15 AM IST

बारडोली. विधानसभा चुनाव में लगे कर्मचारियों को मतदान करने के लिए अलग व्यवस्था की गई है। इसके लिए पांच दिनों तक सूरत जिला के 17,736 अधिकारियों-कर्मचारियों के लिए पोस्टल बैलेट से मतदान प्रक्रिया शुरू की गई है। शनिवार को शहर के पुलिस मुख्यालय में 1165 पुलिस जवान, होमगार्ड और एसआरपी के के जवानों ने पोस्टल बैलेट मतदान किया।


सूरत जिला की 16 सीटों के लिए 30.390 कर्मचारी चुनाव कार्य में लगाए गए हैं। जिसमें चुनाव ड्यूटी में लगे पोलिंग स्टाफ और नॉन पोलिंग स्टाफ के 17763 कर्मचारी पोस्टल बैलेट से मतदान करेंगे। जिसमें मतदान के दिन बूथ के अंदर रहने वाले प्रिसाइडिंग आफिसर, पोलिंग-1 और पोलिंग-2 आफिसर, बीएलओ, प्यून तथा नॉन पोलिंग स्टाफ में ड्राइवर, पुलिस, एसआरपी, होमगार्ड के जवान, सलेक्ट आफिसर, वीडियोग्राफर आदि का समावेश है।जिला में 30390 चुनाव कर्मियों में नॉन पोलिंग स्टाफ के 7032 तथा पोलिंग स्टाफ के 23367 कर्मचारी हैं। चुनाव आयोग द्वारा 30390 कर्मचारियों में से कुल 28928 पोस्टल बैलेट के तहत मतदान के फार्म वितरण किए गए हैं। जिसमें से 19514 फार्म भरकर वापस आए थे।


इसमें वेरिफिकेशन के दौरान अधूरे विवरण वाले 2655 फार्म अमान्य कर दिए गए। मान्य किए गए 16859 फार्म में से 10559 फार्म संबंधित कर्मचारियों को उनसे लगते विधानसभा के आर.ओ. को भेजा गया था। जबकि 6300 कर्मचारी ऐसे हैं कि उनको उसी विधानसभा पर तैनात किया गया है, जहां पर वे मतदाता के रूप में दर्ज हैं। चुनाव विभाग को अंतिम दौर में मिले फार्म के अनुसार कुल 17763 कर्मचारियों की उनसे जुड़े स्थल पर कार्य सौंपा गया है। वे वहां जाने से पहले ही अपना वोट बैलेट पेपर से देंगे। इसके लिए विभाग द्वारा मतपत्रों की व्यवस्था शुरू कर दी गई है।

विश्वास पत्र फॉर्म नं. 13 भरकर की जाएगी वोटिंग

जो चुनाव कर्मी संबंधित विधानसभा मत क्षेत्र में मतदाता के रूप में दर्ज हैं, उनको मतपत्र चार दिन पहले दे दिया जाएगा। वे अपने पसंद के उम्मीदवार को वोट देकर इस वोट को स्वयं ही दिया है, ऐसा विश्वास पत्र यानी कि फार्म नं. 13 भरेंगे। इस वोट को संबंधित अपने मत क्षेत्र के रिटर्निंग आफिसर को दे देंगे। जबकि 20 दिसंबर को मत गणना के समय आर.ओ. सबसे पहले इन कर्मचारियों के वोटों की गिनती करेंगे और उसे मुख्य केन्द्र में शामिल कर लिया जाएगा।