--Advertisement--

मनमोहन सिंह के गेटअप में मिला 9 साल का बच्चा, पूर्व पीएम ने पूछा- 'केम छो'

मनमोहन सिंह ने कहा कि दो महान नेताओं (पंडित नेहरू और सरदार पटेल) के बीच मतभेद दिखा मोदी कुछ हासिल नहीं कर सकते।

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2017, 03:46 AM IST
former PM Manmohan Singh meet Child in gujarat election

सूरत. 9 साल का सत्यम शनिवार को पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से मिलने पहुंचा। वह उन्हीं की तरह नीली पगड़ी, काली बंडी और सफेद कुर्ते में पहुंचा था। पूर्व पीएम प्रोग्राम खत्म होने के बाद सत्यम से मिले और गुजराती में पूछा, “केम छो’। कतारगाम के रहने वाले सत्यम के पिता रोहित गजेरा ने बताया कि वह काफी दिनों से पूर्व पीएम से मिलने की जिद कर रहा था। बता दें कि पिछले दिनों कडोदरा में पीएम नरेंद्र मोदी की सभा में बालक राजवीर मोदी के वेश में आया था।

जीएसटी के बाद 31 हजार लोग बेरोजगार हुए : सिंह

नोटबंदी ओर जीएसटी से देशभर के लोग परेशान हुए। केंद्र सरकार ने ये दोनों निर्णय बगैर पूरी तैयारी और उतावले में लिए थे। यही वजह है कि आज व्यापार में बेरोजगारी बढ़ रही है और व्यापारियों में दहशत है। नरेंद्र मोदी के दिखाए अच्छे दिन का सपना टूट चुका है। ये बातें पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शनिवार को कही। वे सूरत में व्यापारियों के साथ संवाद करने आए थे। हालांकि पूर्व सूचना के आधार पर पूरी तैयारी कर पहुंचे व्यापारियों को निराशा हाथ लगी, क्योंकि पूर्व पीएम ने अपनी बातें रखने के बाद संवाद नहीं किया।

जीएसटी के असर पर पूर्व पीएम ने कहा कि सूरत में टेक्सटाइल क्षेत्र में 31 हजार लोग बेरोजगार हो गए। इसके अलावा 89 हजार लूम्स की मशीनें कबाड़ बन गईं। एमएसएमई सेक्टर को भी भारी क्षति हुई है। एक साल से अधिक समय बीत जाने के बाद भी नोटबंदी का असर देखने को नहीं मिला रहा है। मनमोहन सिंह ने यह भी कहा कि 2017-18 की पहली तिमाही में जीडीपी दर 5.7 फीसदी थी। जून से सितंबर में यह 6.7 फीसदी हो गई। लेकिन अभी की जीडीपी पिछले पांच क्वार्टर से नीचे चली गई। चीन से कपड़ा आयात पर उन्होंने कहा कि वर्ष 2016-17 में चीन से 1.06 लाख करोड़ का फैब्रिक इम्पोर्ट हुआ था। 2017-18 में यह बढ़कर 2.41 लाख करोड़ पर पहुंच गया। इसके लिए नोटबंदी ओर जीएसटी ही जिम्मेदार है।

इकोनॉमी पर भाषण, पूर्व पीएम ने व्यापारियों से नहीं किया संवाद

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह सूरत आए। कांग्रेस की तरफ से कहा गया कि वे व्यापारियों से संवाद करेंगे। लेकिन साइंस सेंटर में सिंह ने आधा घंटा अर्थव्यवस्था पर भाषण दिया, संवाद नहीं किया। इससे व्यापारी नाखुश दिखे। कार्यक्रम में फोस्टा अध्यक्ष मनोज अग्रवाल, चैंबर प्रमुख पीएम शाह, प्रोसेसर्स एसो. के अध्यक्ष जीतू वखरिया, पांडेसरा वीवर्स एसो. के आशीष गुजरात, सचिन इंड. सोसायटी के सचिव मयूर गोलवाला समेत कई व्यापारी पहुंचे थे। पूर्व पीएम से संवाद न होने पर व्यापारियों ने कहा कि हमसे सिर्फ लिखित में सवाल लिए गए, संवाद नहीं हुआ। वहीं, कई व्यापारियों ने कहा कि उन्हें कार्यक्रम का आमंत्रण पत्र ही नहीं मिला।

मैं नहीं चाहता, मेरे बैकग्राउंड पर कोई रहम दिखाए : मनमोहन

मनमोहन सिंह ने शनिवार को सूरत में कहा कि दो महान नेताओं (पंडित नेहरू और सरदार पटेल) के बीच सत्ता के लिए मतभेद दिखाकर मोदी कुछ हासिल नहीं कर सकते हैं। जब उनसे पूछा गया कि नरेंद्र मोदी की तरह अपना बैकग्राउंड क्यों नहीं बताते? इस पर पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं नहीं चाहता कि मेरे सादगीभरे बैकग्राउंड के कारण देश में कोई रहम दिखाए। कम से कम इस मामले में मैं नरेंद्र मोदी के साथ कोई बराबरी नहीं करना चाहता हूं।

former PM Manmohan Singh meet Child in gujarat election
X
former PM Manmohan Singh meet Child in gujarat election
former PM Manmohan Singh meet Child in gujarat election
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..