--Advertisement--

दो बहनों ने किया आखिरी बार मतदान, 3 महीने बाद लेंगी दीक्षा

ये दोनों बहनें दीक्षा के बाद मतदान नहीं करेंगी, क्योंकि इनका संबंध सीधे ईश्वर से हो जाएगा।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 01:11 PM IST
सूरत शहर के रांदेर इलाके में रहने वाली दो बहनों ने किया आखिरी बार मतदान। सूरत शहर के रांदेर इलाके में रहने वाली दो बहनों ने किया आखिरी बार मतदान।

सूरत। शहर के रांदेर इलाके में रहने वाली दो बहनों ने अपने जीवन का आखिरी मतदान किया। तीन महीने बाद ही दोनों बहनें जैन धर्म की दीक्षा लेंगी। दोनों बहनें ढोल-नगाड़ों के साथ मतदान केंद्र पहुंची। दोनों बहनों ने लोगों से अपील की कि मतदान हमारा अधिकार है, हमें मतदान अवश्य करना चाहिए। 18 मार्च को ले रहीं हैं दीक्षा…

22 वर्षीय दोशी सिमोनी और 24 वर्षीय दोशी सोनिका आज जब मतदान करने पहुंची, तो उनके साथ ढोल-नगाड़े भी थे। वे दोनों 18 मार्च को दीक्षा ले रही हैं। इस संबंध में जैन समाज के अजीत मेहता ने बताया कि जैन धर्म में जो भी दीक्षा ले लेता है, वह मतदान नहीं करता। फिर चाहे वह साध्वी हो या फिर महाराज साहब। ये दोनों बहनें भी दीक्षा के बाद मतदान नहीं करेंगी, क्योंकि इनका संबंध सीधे ईश्वर से हो जाएगा।

दोनों बहनें तीन महीने बाद दीक्षा लेने वाली हैं। दोनों बहनें तीन महीने बाद दीक्षा लेने वाली हैं।
युवाओं से मतदान की अपील। युवाओं से मतदान की अपील।
ढोल-नगाड़ों के साथ पहुंची मतदान केंद्र। ढोल-नगाड़ों के साथ पहुंची मतदान केंद्र।
तीन महीने बाद 18 मार्च को ले रही हैं दीक्षा। तीन महीने बाद 18 मार्च को ले रही हैं दीक्षा।