--Advertisement--

8 सीट कम देने वाले सौराष्ट्र को 7, 33 सीट देने वाले चार शहरों से सिर्फ 4 मंत्री

रूपाणी सरकार में 20 मंत्री : 9 कैबिनेट मंत्रियों में 5 और 10 राज्य मंत्रियों में 5 पिछली सरकार में भी शामिल थे

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 01:53 AM IST
22 वर्ष बाद िफर एक मंच पर दिखे बापा, बापू और मोदी 22 वर्ष बाद िफर एक मंच पर दिखे बापा, बापू और मोदी

गांधीनगर/शिमला. गुजरात में लगातार छठी बार सत्ता में आई बीजेपी की नई सरकार ने मंगलवार को शपथ ली। विजय रूपाणी ने चार बार सीएम रहे नरेंद्र मोदी का दोपहर 12.39 बजे शपथ लेने का मिथक तोड़ते हुए 11.35 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। शपथ समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, कई केंद्रीय मंत्री, भाजपा और एनडीए शासित 18 राज्यों के मुख्यमंत्री समेत संत-महंत भी मौजूद थे। इधर, हिमाचल प्रदेश में 13वें सीएम के रूप में जयराम ठाकुर बुधवार को शपथ लेंगे। पीएम मोदी सहित 11 सीएम और दो डिप्टी सीएम पहुंचेंगे।


- उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, 8 कैबिनेट और 10 राज्य मंत्रियों को भी राज्यपाल ओपी कोहली ने शपथ दिलाई। मंत्रिमंडल की पहली बैठक बुधवार को होगी।

- इस बार 18 सीट कम देने वाले सौराष्ट्र से 7 मंत्री बनाए गए हैं, जबकि 33 सीट देने वाले चार शहरों से मात्र चार मंत्री बने हैं। 8 नए चेहरों को मौका दिया गया है।

- सूरत की पाटीदार बहुल वराछा रोड सीट से 68 हजार वोट से जीते किशोर कानाणी राज्यमंत्री बने हैं। पिछली बार मंत्री रहे वल्लभ काकड़िया और राजेंद्र त्रिवेदी मंत्री नहीं बनाए गए।

- कैबिनेट में अब भी 7 जगह खाली हैं। ऐसे में इन्हें और प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी को शामिल किया जा सकता है।

द. गुजरात से इस बार भी 5 मंत्री, सूरत जिले से 3 इनमें शहर से सिर्फ एक

- दक्षिण गुजरात से इस बार भी 5 मंत्री हैं। इनमें 2 कैबिनेट और 3 राज्यमंत्री हैं। सूरत जिले से 3 में से 2 कैबिनेट मंत्री हैं। सूरत शहर की वराछा सीट से कुमार कानाणी राज्यमंत्री हैं।

- पिछली बार शहर से दो में से एक कैबिनेट मंत्री थे। वर्ष 2007 में मोदी के मंत्रिमंडल में सूरत शहर की चौर्यासी सीट से विधायक नरोत्तम पटेल कैबिनेट मंत्री रहे।

- सूरत पूर्व के विधायक रणजीत गिलीटवाला राज्यमंत्री थे। वर्ष 2012 के चुनाव के बाद सूरत शहर से बारी-बारी से दो विधायकों को मंत्री बनाया गया था।

- पिछली बार कतारगाम से नानू वानाणी को कैबिनेट, पूर्णेश मोदी संसदीय सचिव और रणजीत गिलीटवाला राज्यमंत्री थे।

दक्षिण गुजरात

- मांगरोल से गणपत वसावा, बारडोली से ईश्वर परमार कैबिनेट तो उमरगाम से रमण पाटकर, वराछा से कुमार कानाणी, अंकलेश्वर से ईश्वर पटेल राज्यमंत्री हैं।

- पिछली बार कतारगाम से नानू वानाणी, अंकलेश्वर से ईश्वर पटेल, निजर से कांति गामीत राज्यमंत्री थे। 2007 में 1 कैबिनेट और 3 राज्यमंत्री थे।

सूरत जिला

- मांगरोल से गणपत वसावा और बारडोली से ईश्वर परमार कैबिनेट मंत्री हैं। कुमार कानाणी राज्यमंत्री हैं। पिछली बार गणपत वसावा एकमात्र कैबिनेट मंत्री थे।

10 कैबिनेट मंत्री
- विजय रूपाणी (सीएम)
- नीतिन पटेल (डिप्टी सीएम)
- कौशिक पटेल
- आरसी फलदू
- गणपत वसावा
- सौरभ पटेल
- दिलीप ठाकोर
- जय रादडिया
- भूपेंद्र सिंह चूडासमा
- ईश्वर परमार

10 राज्य मंत्री
- किशोर कानाणी
- प्रदीप सिंह जाडेजा
- वासण अाहीर
- परबत पटेल
- परसोत्तम सोलंकी
- विभावरी बेन दवे
- जयद्रथ परमार
- बचू भाई खाबड़
- ईश्वर सिंह पटेल
- रमण पाटकर

1995 में तब ये तीनों साथ ही थे। 1995 में तब ये तीनों साथ ही थे।

शपथ ग्रहण के दौरान कई रोचक नजारे भी दिखे। यहां 22 साल बाद ऐसा लम्हा आया जब पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल, शंकर सिंह वाघेला भी नजर आए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोनों से चर्चा भी की। इस मुलाकात पर वाघेला ने कहा कि कभी यह रहस्य खोलूंगा। 2014 में वजूभाई ने कहा था कि दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं।

शपथ ग्रहण समारोह में िनतिन पटेल, अमित शाह, माेदी और रूपाणी। शपथ ग्रहण समारोह में िनतिन पटेल, अमित शाह, माेदी और रूपाणी।