--Advertisement--

गुजरात में चुनाव प्रचार खत्म, 93 सीटों पर वोटिंग कल, 18 दिसंबर को आएंगे रिजल्ट

दूसरे चरण के प्रचार अभियान में पीएम मोदी और राहुल गांधी ने एक दूसरे के खिलाफ कड़े जुबानी हमले किए।

Dainik Bhaskar

Dec 13, 2017, 06:18 AM IST
फाइल फोटो। फाइल फोटो।

गांधीनगर. विधानसभा चुनाव के दूसरे और अंतिम चरण में उत्तर और मध्य गुजरात के 14 जिलों की 93 सीटों पर मतदान होगा। मतदान से 48 घंटे पहले इस सीटों पर तीखे आरोप-प्रत्यारोपों वाला प्रचार अभियान मंगलवार को शाम पांच बजे थम गया। 2012 के चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा ने इनमें से 52, कांग्रेस ने 39 और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी तथा निर्दलीय ने एक-एक सीट जीती थी।

- गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी बीबी स्वैन ने बताया कि 48 घंटे पहले प्रचार थम गया। अब कोई बाहरी व्यक्ति चुनाव क्षेत्रों में नहीं रह सकता। पहले चरण में नौ दिसंबर को 19 जिलों की 89 सीटों पर हुए चुनाव के लिए चले प्रचार की तर्ज पर दूसरे चरण के प्रचार की कमान भी सत्तारूढ़ भाजपा के लिए स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने तथा कांग्रेस के नामित अध्यक्ष राहुल गांधी ने खुद संभाल रखी थी।

- दूसरे चरण का प्रचार अभियान पहले से अधिक कड़वाहट वाला रहा। पीएम मोदी और राहुल गांधी ने एक दूसरे के खिलाफ कड़े जुबानी हमले किए।

- प्रचार के अंतिम दिन मंगलवार को दोनों ने अलग-अलग मंदिरों में दर्शन भी किए। मोदी ने सी प्लेन में उड़ान भरी। दोनों नेता मंगलवार को ही नई दिल्ली रवाना हो गए। प्रधानमंत्री मोदी मतदान के दिन 14 दिसंबर को फिर गुजरात आएंगे। मोदी मतदाता के रूप में अहमदाबाद में मतदान करेंगे।

वीवीपैट से मतदाताओं का आत्मविश्वास बढ़ा : आयोग

- गुजरात में दूसरे चरण के चुनाव से पहले भारत निर्वाचन आयोग(ईसीआई) ने मंगलवार को कहा कि राज्य में वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल(वीवीपैट) मशीनों की 100 प्रतिशत उपलब्धता से चुनाव प्रकिया में मतदाताओं का आत्मविश्वास बढ़ा है। आयोग ने कहा कि ईसीआई की कड़ी सुरक्षा और प्रशासनिक प्रोटोकोल ने चुनावी धांधली की कोई संभावना नहीं छोड़ी है।

- आयोग ने कहा ने निर्वाचन आयोग ने दूसरे चरण के मतदान के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन(ईवीएम) और वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल(वीवीपैट) के इस्तेमाल के लिए मजबूत प्रशासनिक सुरक्षा उपाय व प्रोटोकाल तय किए हैं। राज्य में नौ दिसंबर को हुए पहले चरण के मतदान में विभिन्न जगहों से ईवीएम व वीवीपैट में गड़बड़ी को लेकर 100 से ज्यादा शिकायतें दर्ज कराई गई थी।

- कांग्रेस नेता अर्जुन मोढवाडिया ने आरोप लगाया था कि पोरबंदर में ईवीएम को ब्लू टूथ से जोड़ा जा सकता था और इसमें छेड़छाड़ की जा सकती थी। हालांकि, गुजरात के मुख्य निर्वाचन अधिकारी बीबी. स्वैन ने ऐसे किसी भी तरह के आरोपों से इनकार किया था और कहा था कि ये आरोप निराधार हैं।

- विपक्षी पार्टियों ने ईवीएम की विश्वसनीयता को लेकर खासकर उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद सवाल उठाए हैं। चुनाव आयोग ने मंगलवार को नौ दिसंबर को हुए चुनाव के लिए चुनावी धांधली की किसी भी तरह की संभावना पैदा नहीं होने देने के लिए, अपने मजबूत प्रशासनिक सुरक्षा उपाय व प्रोटोकोल को धन्यवाद दिया। आयोग ने कहा कि ईवीएम व वीवीपैट में काफी कम मात्रा में समस्या पाई गई, जिसे तत्काल ही मशीन बदलकर सुलझा लिया गया।

छह बूथों पर होगा पुनर्मतदान
- दूसरे चरण के मतदान के साथ ही पहले चरण की छह बूथ पर पुनर्मतदान भी सुबह आठ से शाम पांच बजे तक होगा। इन पर इवीएम में चुनाव के पहले जांच के लिए किए गए मॉक पॉल के आंकड़े को मिटाया नहीं गया था। - इनमें से दो-दो बूथ जामजोधरपुर और उना तथा एक-एक निझर और उमरगांव विधानसभा क्षेत्र में हैं। पहले चरण में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष जीतू वाघाणी समेत कुल 977 उम्मीदवार थे। इसके लिए 66.75 प्रतिशत मतदान हुआ था जो पिछली बार से 4 प्रतिशत कम था। मतगणना 18 दिसंबर को होगी।

कर्मचारियों को सवेतन छुट्‌टी
- कारखाना एक्ट-1948 के तहत काम करने वाले श्रमिकों, भवन और निर्माण कार्य (रोजगार नियमन और सेवा की शर्तों) एक्ट-1996 के तहत पंजीकृत संस्थानों को मतदान के दिन कर्मचारियांे को सवेतन छुट्‌टी देने का निर्देश दिया गया है।

- छुट्‌टी न देने और छुट्‌टी का वेतन काटने वाले मालिकों और संस्थानों के खिलाफ लोक प्रतिनिधित्व की 1951 की धारा 135(बी) के तहत कानूनी कार्रवाई होगी। इण्डस्ट्रियल सेफ्टी एंड हेल्थ के डायरेक्टर डीसी चौधरी ने बताया कि कर्मचारी अपने मताधिकार का उपयोग कर सकें इसलिए छुट्‌टी देने की घोषणा की गई है।

X
फाइल फोटो।फाइल फोटो।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..