--Advertisement--

गुजरात के इतिहास में पहली बार विधानसभा में MLAs के बीच मारपीट

कांग्रेस के दो विधायक तीन साल के लिए और एक विधायक एक साल के लिए विधानसभा से निष्कासित

Danik Bhaskar | Mar 15, 2018, 02:49 AM IST
जिन्होंने माइक से मारा-कांग्रेस विधायक दुधात जिन्होंने माइक से मारा-कांग्रेस विधायक दुधात

गांधीनगर. विधानसभा में अभूतपूर्व घटना घटी। कांग्रेस के विधायक प्रताप दुधात के भाजपा विधायक जगदीश पंचाल के सिर पर माइक उखाड़कर मारते ही पूरा सदन अखाड़े में बदल गया। इसके बाद पक्ष-विपक्ष के विधायकों ने आपस में मारपीट कर विधानसभा के 58 साल के इतिहास को कलंकित किया। विस अध्यक्ष राजेंद्र त्रिवेदी ने कांग्रेस के प्रताप दुधात और अमरीश डेर को तीन साल के लिए और बलदेव जी ठाकुर को एक साल के लिए सस्पेंड कर दिया। साथ ही उनके सदन में आने पर प्रतिबंध लगा दिया। पूरी घटना को लाइव पढ़ें-

- विधानसभा में प्रश्नोत्तर पूरा होने पर उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने पॉइन्ट ऑफ आॅर्डर उठाया था। जिसकी चर्चा खत्म होने के बाद कांग्रेस के उपनेता शैलेष परमार पॉइन्ट ऑफ आॅर्डर उठाने के लिए खड़े हुए। उसी समय कांग्रेस के विक्रम माडम अपनी जगह से खड़े हुए और कहा-सुबह से मैं उंगली उठा रहा हूं, लेकिन बोलने का मौका नहीं दिया जा रहा है।

- अध्यक्ष ने उन्हें बैठने को कहा, लेकिन फिर भी वह बोलने का आग्रह कर रहे थे। अध्यक्ष ने कहा कि कोई मेरा रिश्तेदार नहीं है। आपको कोई समस्या हो तो मुझे चेम्बर में मिलना। उस समय पीछे से कांग्रेस के अमरीश डेर भी खड़े हो गए। विक्रम माडम को समर्थन देते हुए उन्होंने कहा कि हमारे सीनियर नेता को कोई प्रॉब्लम नहीं है तो आपको क्या समस्या है। बोलने क्यों नहीं दे रहे हैं।

- अध्यक्ष ने स्पष्ट सूचना दी कि आप बीच में न बोलें और अपनी जगह पर बैठ जाएं। अमरीश डेर गुस्से में बेल में घुस गए। विक्रम माडम के भी बेल में घुस आने पर दोनों को अध्यक्ष ने सस्पेंड कर दिया। इसके चलते सार्जन्ट दोनों को विधानसभा से बाहर ले जाने लगे।

- इसी दौरान भाजपा की ओर से कोई कमेंट आया। इससे डेर गुस्से में आ गए और सार्जन्ट से खुद को छुड़वाकर भाजपा विधायकों की ओर जाने का प्रयास करने लगे। सार्जन्ट डेर को लेकर बाहर जा रहे थे, उस समय भाजपा और कांग्रेस के विधायक अपनी जगह पर खड़े हो गए। एक-दूसरे पर कमेंट करने लगे। उस समय अचानक प्रताप दुधात दौड़कर आए और महेश वसावा के पास लगी माइक उठाकर भाजपा के सदस्य जगदीश पंचाल के सिर पर मार दिया।

- इसके बाद अध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी ने प्रताप दुधात को पूरे टर्म के लिए सस्पेंड करने के आदेश दे दिए और कार्यवाही 10 मिनट के लिए स्थगित कर दी।

जगदीश पंचाल पिछले कुछ दिन से अपशब्द बोलकर मुझे भड़का रहे थे। पिछले एक हफ्ते से मेरे साथ दुर्व्यवहार कर रहे थे। कोई मुझे गाली दे तो मैं सुन नहीं सकता। यह मेरे संस्कार नहीं हैं।

-प्रताप दुधात, कांग्रेस विधायक

जिन्हें माइक से लगा-भाजपा के जगदीश पंचाल जिन्हें माइक से लगा-भाजपा के जगदीश पंचाल

 अगर मैंने अपशब्द बोला है या प्रताप दुधात को सदन में परेशान कर भड़काने का प्रयास किया है, तो इसका सबूत देने पर मैं विधायक पद से इस्तीफा दे दूंगा। 
               - जगदीश पंचाल            
                भाजपा  विधायक