--Advertisement--

बच्चे के दोनों पैर हैं बेकार, फिर कभी मिस नहीं करता स्कूल, बिसनेसमैन ने बढ़ाया हौसला

दादरा नगर हवेली के आदिवासी परिवार में जन्मा 8 वर्षीय पीयूष चंद्रू दोनों पैरों से दिव्यांग है, फिर स्कूल मिस नहीं करता है

Danik Bhaskar | Feb 08, 2018, 11:28 AM IST

सिलवासा(गुजरात). दादरा नगर हवेली के आदिवासी परिवार में जन्मा 8 वर्षीय पीयूष चंद्रू सापता दोनों पैरों से दिव्यांग है, लेकिन कभी स्कूल मिस नहीं करता। शारीरिक परेशानी के बावजूद पढ़ाई के प्रति ललक को देखते हुए उद्योगपति पुनीत जैन ने यथासंभव मदद का भरोसा देकर हौसला बढ़ाया है।

खेती से गुजारा करने वाले चंद्रू लक्ष्मी सापता की माली हालत ठीक नहीं है। चार बच्चों में पीयूष सबसे बड़ा है। रूदाना स्थित प्राथमिक स्कूल (गुजराती माध्यम) में कक्षा 2 में पढ़ रहा पीयूष पढ़-लिखकर आगे बढ़ना चाहता है।