--Advertisement--

मोरारी बापू की रामकथा में पहुंचे हार्दिक को पुलिस ने रोका, VVIP रूम में स्वागत कर लौटाया

आचार संहिता का हवाला देकर लौटाया, शर्तों के साथ दी थी चुनाव आयोग ने मंजूरी

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2017, 06:28 AM IST
VIDEO: हार्दिक ने इस दौरान चुनाव में अपशब्दों के इस्तेमाल पर बीजेपी-कांग्रेस पर नाराजगी जाहिर की। VIDEO: हार्दिक ने इस दौरान चुनाव में अपशब्दों के इस्तेमाल पर बीजेपी-कांग्रेस पर नाराजगी जाहिर की।

सूरत (गुजरात). पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PAAS) के नेता हार्दिक पटेल शुक्रवार को सरथाणा इलाके में मोरारी बापू की रामकथा में पहुंचे। लेकिन पुलिस ने उन्हें मेन गेट से अंदर नहीं जाने दिया। दरअसल, राज्य चुनाव आयोग ने रामकथा के लिए इजाजत देते वक्त कहा था कि किसी पार्टी नेता या चुनाव पर असर डालने वाले शख्स को कथा में नहीं आने दिया जाए। इससे चुनाव प्रभावित होने की आशंका है। इसीलिए हार्दिक को जनता के बीच से होकर जाने से रोका गया। हालांकि, पुलिस उन्हें पिछले गेट से वीवीआईपी रूम में ले गई, जहां कुछ देर रुकने के बाद हार्दिक लौट गए।

मणिशंकर की भाषा गलत, BJP नेता भी अपशब्द कह रहे: हार्दिक

- रामकथा में पहुंचे हार्दिक पटेल ने कहा, "देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने जो शब्द इस्तेमाल किए हैं, वो गलत है। मैं इस भाषा से सहमत नहीं हूं। लेकिन इसी प्रकार की भाषा का प्रयोग बीजेपी के नेता भी कर रहे हैं।"

- हार्दिक ने कहा, "2014 के लोकसभा चुनाव से पहले जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब उन्होंने भी कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी को 'बार गर्ल' कहा था। 2017 के चुनाव में भी बीजेपी के कई नेताओं ने भद्दे शब्दों का इस्तेमाल किया है। खुद मोदी भी ऐसी भाषा इस्तेमाल कर रहे हैं, जो उन्हें शोभा नहीं देती।"

- कथित सेक्स सीडी के सवाल पर हार्दिक ने कहा, "बीजेपी सीडी बनाने में व्यस्त होने के कारण अपना घोषणापत्र भी नहीं बना पाई।"

PAAS के कन्वीनर ने क्या कहा?

- पास के कन्वीनर धार्मिक मावलिया ने बताया कि हार्दिक पटेल के साथ पास के कुछ कार्यकर्ता रामकथा में पहुंचे थे। वहां आयोजकों ने हार्दिक का स्वागत किया। उसके बाद हार्दिक ने मोरारी बापू से मिलने की इच्छा जताई, लेकिन चालू कथा में किसी नेता को एंट्री करने की इजाजत नहीं है। हार्दिक कुछ देर स्वागत कक्ष में बापू की प्रतिमा के पास ठहरकर लौट आए थे।

हार्दिक ने ट्वीट में क्या लिखा?

- इसी दौरान हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर कहा, ''सूरत में आयोजित मोरारी बापू की रामकथा में जा रहा था। लेकिन पुलिस ने रोका और कहा कि आचार संहिता लागू है, आप नहीं जा सकते। धर्म में भी अब आचार संहिता लगती है, राम-राम।''

चुनाव आयोग ने किसी राजनेता के रामकथा में नहीं आने की शर्त पर इजाजत दी है। चुनाव आयोग ने किसी राजनेता के रामकथा में नहीं आने की शर्त पर इजाजत दी है।
पुलिस हार्दिक को वीआईपी रूम में ले गई और स्वागत कर वापस भेज दिया। पुलिस हार्दिक को वीआईपी रूम में ले गई और स्वागत कर वापस भेज दिया।
हार्दिक रामकथा में पहुंचे तो पुलिस ने आचार संहिता लागू होने का हवाला देकर उन्हें अंदर जाने से रोका। हार्दिक रामकथा में पहुंचे तो पुलिस ने आचार संहिता लागू होने का हवाला देकर उन्हें अंदर जाने से रोका।
हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए। हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए।
हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए। हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए।
X
VIDEO: हार्दिक ने इस दौरान चुनाव में अपशब्दों के इस्तेमाल पर बीजेपी-कांग्रेस पर नाराजगी जाहिर की।VIDEO: हार्दिक ने इस दौरान चुनाव में अपशब्दों के इस्तेमाल पर बीजेपी-कांग्रेस पर नाराजगी जाहिर की।
चुनाव आयोग ने किसी राजनेता के रामकथा में नहीं आने की शर्त पर इजाजत दी है।चुनाव आयोग ने किसी राजनेता के रामकथा में नहीं आने की शर्त पर इजाजत दी है।
पुलिस हार्दिक को वीआईपी रूम में ले गई और स्वागत कर वापस भेज दिया।पुलिस हार्दिक को वीआईपी रूम में ले गई और स्वागत कर वापस भेज दिया।
हार्दिक रामकथा में पहुंचे तो पुलिस ने आचार संहिता लागू होने का हवाला देकर उन्हें अंदर जाने से रोका।हार्दिक रामकथा में पहुंचे तो पुलिस ने आचार संहिता लागू होने का हवाला देकर उन्हें अंदर जाने से रोका।
हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए।हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए।
हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए।हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..