Hindi News »Gujarat »Surat» Hardik Patel Not Allowed In Morari Bapu Katha Primises

मोरारी बापू की रामकथा में पहुंचे हार्दिक को पुलिस ने रोका, VVIP रूम में स्वागत कर लौटाया

आचार संहिता का हवाला देकर लौटाया, शर्तों के साथ दी थी चुनाव आयोग ने मंजूरी

Bhaskar News | Last Modified - Dec 09, 2017, 06:28 AM IST

    • VIDEO: हार्दिक ने इस दौरान चुनाव में अपशब्दों के इस्तेमाल पर बीजेपी-कांग्रेस पर नाराजगी जाहिर की।

      सूरत (गुजरात).पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (PAAS) के नेता हार्दिक पटेल शुक्रवार को सरथाणा इलाके में मोरारी बापू की रामकथा में पहुंचे। लेकिन पुलिस ने उन्हें मेन गेट से अंदर नहीं जाने दिया। दरअसल, राज्य चुनाव आयोग ने रामकथा के लिए इजाजत देते वक्त कहा था कि किसी पार्टी नेता या चुनाव पर असर डालने वाले शख्स को कथा में नहीं आने दिया जाए। इससे चुनाव प्रभावित होने की आशंका है। इसीलिए हार्दिक को जनता के बीच से होकर जाने से रोका गया। हालांकि, पुलिस उन्हें पिछले गेट से वीवीआईपी रूम में ले गई, जहां कुछ देर रुकने के बाद हार्दिक लौट गए।

      मणिशंकर की भाषा गलत, BJP नेता भी अपशब्द कह रहे: हार्दिक

      - रामकथा में पहुंचे हार्दिक पटेल ने कहा, "देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने जो शब्द इस्तेमाल किए हैं, वो गलत है। मैं इस भाषा से सहमत नहीं हूं। लेकिन इसी प्रकार की भाषा का प्रयोग बीजेपी के नेता भी कर रहे हैं।"

      - हार्दिक ने कहा, "2014 के लोकसभा चुनाव से पहले जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब उन्होंने भी कांग्रेस प्रेसिडेंट सोनिया गांधी को 'बार गर्ल' कहा था। 2017 के चुनाव में भी बीजेपी के कई नेताओं ने भद्दे शब्दों का इस्तेमाल किया है। खुद मोदी भी ऐसी भाषा इस्तेमाल कर रहे हैं, जो उन्हें शोभा नहीं देती।"

      - कथित सेक्स सीडी के सवाल पर हार्दिक ने कहा, "बीजेपी सीडी बनाने में व्यस्त होने के कारण अपना घोषणापत्र भी नहीं बना पाई।"

      PAAS के कन्वीनर ने क्या कहा?

      - पास के कन्वीनर धार्मिक मावलिया ने बताया कि हार्दिक पटेल के साथ पास के कुछ कार्यकर्ता रामकथा में पहुंचे थे। वहां आयोजकों ने हार्दिक का स्वागत किया। उसके बाद हार्दिक ने मोरारी बापू से मिलने की इच्छा जताई, लेकिन चालू कथा में किसी नेता को एंट्री करने की इजाजत नहीं है। हार्दिक कुछ देर स्वागत कक्ष में बापू की प्रतिमा के पास ठहरकर लौट आए थे।

      हार्दिक ने ट्वीट में क्या लिखा?

      - इसी दौरान हार्दिक पटेल ने ट्वीट कर कहा, ''सूरत में आयोजित मोरारी बापू की रामकथा में जा रहा था। लेकिन पुलिस ने रोका और कहा कि आचार संहिता लागू है, आप नहीं जा सकते। धर्म में भी अब आचार संहिता लगती है, राम-राम।''

    • मोरारी बापू की रामकथा में पहुंचे हार्दिक को पुलिस ने रोका, VVIP रूम में स्वागत कर लौटाया
      +5और स्लाइड देखें
      चुनाव आयोग ने किसी राजनेता के रामकथा में नहीं आने की शर्त पर इजाजत दी है।
    • मोरारी बापू की रामकथा में पहुंचे हार्दिक को पुलिस ने रोका, VVIP रूम में स्वागत कर लौटाया
      +5और स्लाइड देखें
      पुलिस हार्दिक को वीआईपी रूम में ले गई और स्वागत कर वापस भेज दिया।
    • मोरारी बापू की रामकथा में पहुंचे हार्दिक को पुलिस ने रोका, VVIP रूम में स्वागत कर लौटाया
      +5और स्लाइड देखें
      हार्दिक रामकथा में पहुंचे तो पुलिस ने आचार संहिता लागू होने का हवाला देकर उन्हें अंदर जाने से रोका।
    • मोरारी बापू की रामकथा में पहुंचे हार्दिक को पुलिस ने रोका, VVIP रूम में स्वागत कर लौटाया
      +5और स्लाइड देखें
      हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए।
    • मोरारी बापू की रामकथा में पहुंचे हार्दिक को पुलिस ने रोका, VVIP रूम में स्वागत कर लौटाया
      +5और स्लाइड देखें
      हार्दिक ने इस मुद्दे पर ट्वीट किए।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Surat News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Hardik Patel Not Allowed In Morari Bapu Katha Primises
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From Surat

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×