सूरत

--Advertisement--

‘सनबर्न’ में नाबालिगों को न मिले शराब, स्कूल बच्चे भी शामिल होंगे : कोर्ट

सनबर्न 28 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच किया जाना है जिसमें एक लाख से ज्यादा लोगों के आने की उम्मीद।

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 10:21 AM IST
बाॅम्बे हाईकोर्ट में हुई मामल बाॅम्बे हाईकोर्ट में हुई मामल

मुंबई. पुणे में आयोजित सनबर्न महोत्सव में नाबालिग बच्चों को शराब न परोसी जाए, इसके लिए राज्य सरकार कौन से कदम उठाएगी? बॉम्बे हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से पुणे निवासी रतन लूथा की ओर से दायर जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान यह सवाल किया। न्यायमूर्ति शांतनु केमकर व न्यायमूर्ति राजेश केतकर की खंडपीठ ने इस संबंध में सरकार को 20 दिसंबर तक हलफनामा दायर करने का निर्देश दिया है। सुनवाई के दौरान आयोजकों की ओर से पैरवी कर रहे अधिवक्ता ने कहा, हमने कार्यक्रम के काफी टिकट बेच दिए है। कई कलाकारों की बुकिंग हो चुकी है। ऐसे में कार्यक्रम को रोकना उचित नहीं होगा। उन्होंने कहा कि आयोजक सुनिश्चित करेंगे कि किसी भी कानून का उल्लंघन न हो।

यह दी जानकारी

- सरकारी वकील अभिनंदन व्याज्ञानी ने कहा, आयोजकों ने आश्वस्त किया है कि वे कार्यक्रम में शामिल होनेवाले विभिन्न उम्र के लोगों के लिए अलग-अलग रंग के हाथ में बांधने के लिए बैंड जारी करेंगे।
- शराब के काउंटर को स्टेज से काफी दूर लगाया जाएगा।
- पुलिस यह सुनिश्चित करेगी कि जो गोवा में हुआ वह यहां पर न हो।

याचिका में यह कहा
सनबर्न का आयोजन आगामी 28 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच किया जाना है। कार्यक्रम में एक लाख से अधिक लोगों के आने की अपेक्षा है। याचिका में मांग की गई है कि, सनबर्न के आयोजकों को शराब के लाइसेंस जारी न किए जाएं। क्योंकि सनबर्न में काफी संख्या में स्कूल जानेवाले नाबालिग बच्चे भी शामिल होंगे, इसलिए आयोजकों को कार्यक्रम के दौरान शराब परोसने की अनुमति न दी जाए। याचिका पर गौर करने के बाद खंडपीठ ने कहा, सरकार सनबर्न के आयोजकों से लिखित रुप से अंडरटेकिंग ले कि, वे सरकार को सभी जरूरी करों का भुगतान करेंगे। याचिका में कहा गया है कि जब सनबर्न का आयोजन गोवा में होता था तो उस दौरान नाबालिगों को शराब व ड्रग्स उपलब्ध कराने की कई खबरें आई थी।

X
बाॅम्बे हाईकोर्ट में हुई मामलबाॅम्बे हाईकोर्ट में हुई मामल
Click to listen..