Hindi News »Gujarat »Surat» Heart Weight Increased Strangly

मरीज की मौत के बाद हार्ट का वजन देख डॉक्टर भी चकराए, कहा- कभी नहीं देखा ऐसा

सूरत सिविल हॉस्पिटल में पिछले दिनों एक चौकाने वाली घटना सामने आई है।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 08, 2017, 07:35 AM IST

मरीज की मौत के बाद हार्ट का वजन देख डॉक्टर भी चकराए, कहा- कभी नहीं देखा ऐसा

सूरत.सूरत सिविल हॉस्पिटल में पिछले दिनों एक चौकाने वाली घटना सामने आई है। दरअसल पीएम हाउस में डॉक्टर एक बॉडी का पोस्टमार्टम कर रहे थे। उस दौरान उन्होंने देखा कि मृतक के हार्ट का वजन सामान्य से बहुत ज्यादा है। जब हार्ट का वजन कराया तो पता चला उसका वजन 1125 ग्राम है। पोस्टमार्टम कर रहे डॉक्टर सुमित जगानी ने बताया कि मौत की वजह हार्ट फेल्योर(फेल) था। उन्होंने कहा कि पीएम के दौरान अधिकतम 500 से 700 ग्राम के हार्ट को देखा है, लेकिन आज तक सिविल हॉस्पिटल में इतना बड़ा हृदय उन्होंने नहीं देखा। वहीं शहर के अन्य कार्डियोलॉजिस्ट बताते हैं कि उन्होंने आज तक इतने बड़े हार्ट के बारे में नहीं सुना। बहुत ही रेयर मामला है। शहर में आज तक इतने बड़े हार्ट को नहीं देखा गया ना ही ऐसे किसी पेशेंट का इलाज हुआ जिसका इतना बड़ा हार्ट हो।

घटना : 24 सितंबर को युवक के शव का हुआ था पोस्टमार्टम

बता दें कि सिटी लाइट के पास पनास गांव निवासी 24 वर्षीय वकील कुमार गुप्ता पानी पूरी की लारी लगाता था। बीते 24 सितंबर को सीने में तेज दर्द हुआ, जिसके बाद वह बेहोश होकर गिर गया। इलाज के लिए सिविल अस्पताल लाया गया। यहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। बाद में जब डॉक्टरों ने पोस्टमार्टमम किया तो पता चला कि हार्ट सामान्य से ज्यादा बढ़ने से फेल हो गया, जिससे कारण उसकी मौत हो गई। इस मामले में जब गुरुवार को पुलिस पोस्टमार्ट रिपोर्ट लेने आई तो घटना का खुलासा हुआ।

कोर बोवीनुमा है बीमारी

इस मामले पर मुंबई स्थित कोकिलाबेन हॉस्पिटल के कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. प्रवीण कहाले ने बताया कि हार्ट अगर 700 से अधिक वजनी होता है तो ऐसे हार्ट को कोर बोवीनुम कहा जाता है। सामान्य भाषा में बैल जितना हार्ट है। उन्होंने कहा यह बीमारी के चलते होता है बचपन से ही मसल्स की बीमारी अथवा वाल में कमी के चलते हार्ट दिन-प्रतिदिन बड़ा होता जाता है और अंत में मौत हो जाती है यह बहुत ही रेयर मामला है। डॉ. प्रवीण ने बताया कि आज तक उन्होंने भी ऐसे किसी हार्ट के बारे में नहीं सुना जिसका इतना वजन हो।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Surat News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: mrij ki maut ke baad haart ka vjn dekh doktr bhi chkaraae, khaa- kbhi nahi dekhaa aisaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×