Hindi News »Gujarat »Surat» Holi Will Be Played With Flowers In Gujarat Temples

गुजरात: 800 मंदिरों में पानी से नहीं, फूलों से खेली जाएगी होली

पानी बचाने को स्वामीनारायण संप्रदाय ने की पहल

भौमिक शुक्ला | Last Modified - Feb 28, 2018, 03:30 AM IST

  • गुजरात: 800 मंदिरों में पानी से नहीं, फूलों से खेली जाएगी होली
    +1और स्लाइड देखें

    अहमदाबाद. गुजरात में जल संकट से उबरने में मंदिरों ने पहल की है। स्वामीनारायण संप्रदाय के 800 मंदिरों ने पानी नहीं, फूल-अबीर-गुलाल से ही होली खेलने का फैसला किया है। सामान्यत: हर साल मंदिरों में होने वाले पुष्पदोलोत्सव के तहत होली मनाई जाती है। इसमें पानी का प्रयोग होता था।

    दूसरी ओर, अहमदाबाद महानगर पालिका (मनपा) ने भी भास्कर के तिलक होली अभियान से प्रेरित हो शहर के निजी क्लब को होली में पानी का प्रयोग न करने की ताकीद करने का मन बनाया है। क्लबों को रेन डांस सरीखे आयोजनों के लिए पानी नहीं दिया जाएगा।

    फूलों से मनाएंगे होली
    विश्वभर में अक्षरधाम मंदिर बनाने वाले बीएपीएस संस्थान के प्रवक्ता अक्षरवत्सल स्वामी का कहना है कि राज्य में जल संकट है। इसलिए संस्थान ने पुष्पदोलोत्सव सादगी से मनाने का निर्णय किया है। हमने अपने हर मंदिर को पानी के उपयोग के बिना होली पर्व मनाने को कहा है।

  • गुजरात: 800 मंदिरों में पानी से नहीं, फूलों से खेली जाएगी होली
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×