--Advertisement--

HC के आदेश के बाद लक्ष्मी डायमंड के मालिक वसंत गजेरा अरेस्ट

गजेरा ने जमीन के बोगस दस्तावेज बनाए, जमीन की खरीदी में गफलत की।

Danik Bhaskar | Mar 21, 2018, 03:41 PM IST
पुलिस हिरासत में वसंत गजेरा। पुलिस हिरासत में वसंत गजेरा।

सूरत। हाईकोर्ट के आदेश के बाद उद्योगपति वसंत गजेरा को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। उन पर जमीन के बोगस दस्तावेज पेश करने का आरोप है। उमरा पुलिस ने पहले उन्हें हिरासत में लिया उसके बाद उनकी धरपकड़ की। उधर फरियादी किसान ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि गजेरा को वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। झूठे दस्तावेज बनाए…

वेसु इलाके में जमीन के मामले में किसान वजुभाई वालाणी द्वारा उमरा पुलिस स्टेशन में प्रख्यात उद्योगपति वसंत हरी गजेरा के खिलाफ रिपोर्ट लिखवाई। इसके बाद पुराना सर्वे नम्बर 482, नया सर्वे नम्बर 280 की जमीन का विवाद का मामला हाईकोर्ट पहुंचा। इसमें झूठी कम्पाउंड वाल और फेंसिंग के वाउचर पेश किए गए। इससे हाईकोर्ट के आदेश के बाद उमरा पुलिस द्वारा वसंत गजेरा को हिरासत में लेकर उनकी धरपकड़ की गई।

वीआईपी ट्रीटमेंट का आरोप

फरियादी किसान द्वारा उमरा पुलिस पर यह आरोप लगाया है कि गजेरा को वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। उनका मोबाइल फोन उन्हीं के पास है, जबकि अन्य लोगों से उनके मोबाइल ले लिए गए हैं।

बोगस दस्तावेज बनाए गए

वसंत गजेरा ने वेसु इलाके के किसान से जमीन खरीदी थी। परंतु किसान का आरोप है कि जिस जमीन की खरीदी की गई थी, उसमें गजेरा ने गफलत की है। किसान ने शिकायत की थी कि गजेरा ने बोगस दस्तावेज बनाए। उमरा पुलिस स्टेशन में पहले इसकी शिकायत की गई। परंतु पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। तब किसान वजुभाई वालाणी ने हाईकोर्ट में अपील दायर की। इस पर हाईकोर्ट ने वसंत गजेरा को अरेस्ट करने का आदेश दिया।

अभी मुख्य केस बाकी-फरियादी

वजुभाई वालाणी ने बताया कि अभी तो जमीन का असली मामला बाकी है। इस मामले में उन्होंने हमारी जगह पर फेंसिंग ओर दीवार गैरकानूनी तरीके से बनाई है। इस संबंध में 1990 के केस में धरपकड़ की गई थी, अभी तो हमारे अलावा कई और किसान की जमीनों का भी मामला बाकी है।

उमरा पुलिस स्टेशन में वसंत गजेरा। उमरा पुलिस स्टेशन में वसंत गजेरा।
मोबाइल से बात करते हुए गजेरा। मोबाइल से बात करते हुए गजेरा।
उमरा पुलिस स्टेशन। उमरा पुलिस स्टेशन।