Hindi News »Gujarat »Surat» Rin Mukteshwar Temple Uniqueness

यहां कलश में है 4 करोड़ 55 लाख का 7 टन पारा, मंदिर के कांच के दरवाजे से होते हैं दर्शन

15 से अधिक देशों में बसे गांव के एनआरआई हर साल यहां दर्शन के लिए आते हैं।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 13, 2018, 01:23 AM IST

  • यहां कलश में है 4 करोड़ 55 लाख का 7 टन पारा, मंदिर के कांच के दरवाजे से होते हैं दर्शन
    +5और स्लाइड देखें
    300 साल पुराने इस शिव मंदिर का एक साल पहले गांव के एनआरआई ने 7 करोड़ की लागत से पुननिर्माण कराया था।

    सूरत. पलसाणा के एना गांव का ऋण मुक्तेश्वर महादेव मंदिर विज्ञान और धर्म का अद्भभुत संगम है। मंदिर में बने 18 फीट शिवलिंग के नीचे एक कलश में 4 करोड़ 55 लाख का 7 टन पारा रखा गया है। इस कलश से एक पाइप शिवलिंग के ऊपरी भाग तक लाई गई है। मंदिर में ओम का उच्चारण करने पर प्रतिध्वनि से पारे में कंपन होती, जिससे भक्तों में ऊर्जा का संचार होता है।

    कांच के दरवाजे से होता है दर्शन
    300 साल पुराने इस शिव मंदिर का एक साल पहले गांव के एनआरआई ने 7 करोड़ की लागत से पुननिर्माण कराया था। संपूर्ण शिवलिंग का दर्शन कांच के दरवाजे से कराया जाता है।

    हर साल 15 देशों से आते हैं भक्त
    - मंदिर के प्रमुख ईश्वर नाथुभााई पटेल ने बताया कि मुख्य शिवलिंग पर 1008 छोटे शिवलिंग लगे हैं। 15 से अधिक देशों में बसे गांव के एनआरआई हर साल यहां दर्शन के लिए आते हैं।

    - 1008 छोटे शिवलिंग मुख्य शिवलिंग पर लगे हुए हैं।

    - 300 साल पुराना है यह ऋण मुक्तेश्वर मंदिर

    - 60 टन वजन है मंदिर में स्थापित शिवलिंग का

  • यहां कलश में है 4 करोड़ 55 लाख का 7 टन पारा, मंदिर के कांच के दरवाजे से होते हैं दर्शन
    +5और स्लाइड देखें
  • यहां कलश में है 4 करोड़ 55 लाख का 7 टन पारा, मंदिर के कांच के दरवाजे से होते हैं दर्शन
    +5और स्लाइड देखें
  • यहां कलश में है 4 करोड़ 55 लाख का 7 टन पारा, मंदिर के कांच के दरवाजे से होते हैं दर्शन
    +5और स्लाइड देखें
  • यहां कलश में है 4 करोड़ 55 लाख का 7 टन पारा, मंदिर के कांच के दरवाजे से होते हैं दर्शन
    +5और स्लाइड देखें
  • यहां कलश में है 4 करोड़ 55 लाख का 7 टन पारा, मंदिर के कांच के दरवाजे से होते हैं दर्शन
    +5और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×