Hindi News »Gujarat »Surat» Isolated Village People Struggling For Basic Facility

मरीजों को 17 किमी ‘बांबूलैंस’ से पहुंचाते हैं अस्पताल, हालात ऐसे कि सोच पाना मुश्किल

हालात खराब होने से गांव के 73 युवक-युवतियों की शादी भी नहीं हो रही है।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 24, 2018, 06:39 AM IST

मरीजों को 17 किमी ‘बांबूलैंस’ से पहुंचाते हैं अस्पताल, हालात ऐसे कि सोच पाना मुश्किल

धडगांव. गुजरात की सीमा से सटे नंदुरबार के धडगांव तहसील में सतपुड़ा की पहाड़ियों में तिसणमाल गांव बसा है। तिसणमाल के उत्तर और पश्चिम दिशा में नर्मदा नदी, पूर्व में जंगल, दक्षिण में जंगली जानवरों के बीच से एकमात्र कच्चा रास्ता है जो शहर आता है। यहां बिजली, पानी, स्वास्थ्य, राेजगार जैसी सुविधाओं की कल्पना भी नहीं की जा सकती है।

गांव के 73 युवक-युवतियों की शादी भी नहीं हो रही

- गांव के आसपास 10-15 किलोमीटर दूर तक कोई दूसरा गांव भी नहीं है। भाैगाेलिक परिस्थिति खराब होने से गांव के 73 युवक-युवतियों की शादी भी नहीं हो रही है।

- ग्रामीण मरीज को ‘बांबूलैंस’ से अस्पताल ले जाते हैं। ‘बांबूलैंस’ उठाने के लिए 6 लोगों की जरूरत होती है। अस्पताल 17 किमी दूर होने के कारण छह लोग अदला-बदली करके मरीज को अस्पताल तक ले जाते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Surat News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: mrijon ko 17 kimi baanbulains se phunchaate hain aspatal, haalaat aise ki soch paanaa mushkil
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×