सूरत

--Advertisement--

अब एक लोटा पानी से जलाभिषेक, मंदिर में लगाया जल श्रीकृष्ण का बोर्ड

पोरबंदर : शिवालय में रोज बर्बाद हो रहे 1500 लीटर पानी बचाने का अभियान

Danik Bhaskar

Mar 23, 2018, 03:32 AM IST

पोरबंदर. गर्मी शुरू होते ही प्रदेश में जल संकट गहराने लगा है। पोरबंदर के शिवालय में एक लोटा पानी से जलाभिषेक करने का आग्रह कर रोज 1500 लीटर पानी बचाने का आयोजन किया गया है। पोरबंदर सहित सौराष्ट्र में पीने के पानी की समस्या विकट है। सरकार की ओर से भी पानी बचाने का प्रयास किया जा रहा है। संस्थाएं भी अपने तरीके से पानी बचाने के लिए अभियान चला रही हैं।

पोरबंदर शहर के बाघेश्वरी प्लॉट में स्थित पौराणिक दुधेश्वर महादेव मंदिर में पानी बचाने का अभियान शुरू किया गया है। मंदिर में श्रद्धालु रोजाना हजारों लीटर पानी से शिवजी का जलाभिषेक करते थे।

पुजारी ने पानी की बर्बादी को रोकने के लिए मंदिर के मुख्य दरवाजे पर बोर्ड लगाया है। जिसमें श्रद्धालुओं से पानी बचाने की अपील की गई है। मंदिर में एक लोटा पानी से शिवजी का जलाभिषेक करने का आयोजन किया गया है। मंदिर के पुजारी ने बताया कि अभियान से मंदिर में रोजाना 1500 लीटर पानी की बचत हो रही है।

श्रद्धालु पूरा सहयोग कर रहे हैं : पुजारी

पुजारी निलेशभाई व्यास ने बताया कि मंदिर में पानी की बर्बादी को रोकने के लिए मुख्य द्वार के पास एक नोटिस बोर्ड लगाया गया है। पहले हजारों लीटर पानी से जलाभिषेक होता था पर एक हफ्ते से श्रद्धालुओं का पूरा सहयोग मिल रहा है और पानी की बचत हो रही है।

पीपल, तुलसी पर जल नहीं चढ़ाया जा रहा है
मंदिर परिसर में पीपल, वट और तुलसी सहित कई पवित्र पेड़-पौधे हैं। जिस पर श्रद्धालु जल चढ़ाकर पूजा-अर्चना करते थे। पानी बचाओ अभियान शुरू करने के बाद मंदिर में आने वाले श्रद्धालु केवल शिवजी का जलाभिषेक कर रहे हैं। परिसर में लगे पेड़, पौधों में दिनभर में एक बार पानी डाला जाता है।

Click to listen..