Hindi News »Gujarat »Surat» Gujarat Minister Parshottam Solanki Expresses Displeasure Over Portfolios Allocation

गुजरात के मिनिस्टर बोले- सीएम 12-12 डिपार्टमेंट लिए बैठे हैं, मुझे भी मिले सम्मान

विभाग को लेकर अब परषोत्तम सोलंकी नाखुश कहा- मैं नहीं, कोली समाज नाराज है

Bhaskar News | Last Modified - Jan 03, 2018, 07:03 AM IST

  • गुजरात के मिनिस्टर बोले- सीएम 12-12  डिपार्टमेंट लिए बैठे हैं, मुझे भी मिले सम्मान
    +1और स्लाइड देखें
    डिप्टी चीफ मिनिस्टर नितिन पटेल के बाद परषोत्तम सोलंकी डिपार्टमेंट की मांग को लेकर उतरे मैदान में ।- फाइल

    गांधीनगर. डिप्टी सीएम नितिन पटेल के बाद अब रुपाणी सरकार के दूसरे मिनिस्टर की नाराजगी सामने आई है। ये हैं परषोत्तम सोलंकी। भावनगर के विधायक परषोत्तम कद्दावर कोली नेता हैं। सीएम रुपाणी की सरकार में राज्यमंत्री हैं। मंगलवार को सीएम के औपचारिक रूप से पद संभालने के बाद सोलंकी का यह बयान आया। वे सौजन्य भेंट को पहुंचे थे। राज्यमंत्री सोलंकी ने कोली समाज में नाराजगी का हवाला देकर नाखुशी जताई। इसके तुरंत बाद वरिष्ठ कैबिनेट मिनिस्टर भूपेन्द्र सिंह चूडास्मा ने उनसे मुलाकात की। चूडास्मा की समझाइश के बाद सोलंकी ने कहा कि- ‘मैं नाराज नहीं हूं। कोली समाज नाराज है। 45 सीटों पर कोली समाज का प्रभाव है।’


    - सोलंकी ने कहा- ‘मुख्यमंत्री खुद 12-12 विभाग लिए हुए हैं। मेरा भी अच्छा मान-सम्मान हो ताकि लोगों के साथ न्याय किया जा सके। जहां जाऊं, वहां मुझे इज्जत मिले, ऐसा प्रभावशाली विभाग मिलना चाहिए। मैं लगातार पांच बार से विधायक चुना जा रहा हूं। बावजूद इसके कोई अच्छा विभाग मुझे नहीं सौंपा जाता। हर बार सिर्फ मत्स्य उद्योग विभाग सौंप दिया जाता है। इसको लेकर कोली समाज बहुत नाराज है। विभाग आवंटन के बार में मैंने मुख्यमंत्री के समक्ष बात रखने गया था। शुभकामनाएं देने वालों की भीड़ के चलते मुख्यमंत्री ने मुझे फोन कर बुलाने का आश्वासन दिया है।’

    बीजेपी सरकार के लिए सिरदर्द बन सकता है सोलंकी का दबाव

    - डिप्टी सीएम नितिन पटेल के विभाग के आंवटन को लेकर हाल में हुए ‘हाई वॉल्टेज’ ड्रामे के पटाक्षेप के बाद अब कोली समुदाय के दबंग मंत्री परषोत्तम सोलंकी विभाग के बंटवारे को लेकर मैदान में उतरे हुए हैं।

    - गुजरात में खासी आबादी वाले कोली समाज के भाजपा में प्रमुख चेहरे परषोत्तम सोलंकी का यह दबाव पिछली बार के 115 की तुलना में मात्र 99 सीटें (182 सदस्यीय विधानसभा में सामान्य बहुमत 92 से मात्र सात अधिक) लेकर सत्ता में आई पार्टी के लिए खासा सिरदर्द हो सकता है। अगर भाजपा आलाकमान नितिन पटेल की तर्ज पर उन्हें भी अतिरिक्त विभाग देता है तो कई अन्य लोग भी ऐसे सवाल उठा सकते हैं और लगातार कई बार जीते कुछ विधायक भी मंत्री परिषद में शामिल नहीं होने की बात उठा सकते हैं। अगर उन्हें विभाग नहीं मिलता तो भी सरकार के लिए खासी मुश्किल पैदा हो सकती है।
    - उधर भावनगर ग्राम्य सीट से जीते सोलंकी ने कहा कि इस बार भी उन्हें केवल एक विभाग दिए जाने से कोली समुदाय नाराज है। इस एक विभाग के जरिए वे केवल तटीय क्षेत्र के लोगों की सेवा कर सकते हैं।

    - उन्होंने भी हालांकि नितिन पटेल की तर्ज पर सीधे खुद के नाराज होने की बात नहीं कही पर यह कहा कि अगर उन्हें और कोई विभाग नहीं मिलता तो उनका समुदाय अपनी नाराजगी जता सकता है।

    भीड़ के कारण सीएम से नहीं हो पाई बात

    - समुदाय अपने इस इकलौते मंत्री के लिए और विभाग चाहता है। पिछले चार बार उन्हें दो-दो विभाग दिए गए थे पर इस बार केवल एक ही विभाग मिला है।

    - मंगलवार को वह मुख्यमंत्री से मिलने गए थे पर उनके कार्यालय में भीड़ होने के कारण वह खुल कर अपनी बात नहीं रख पाए।

    - सोलंकी ने कहा कि मत्स्य जैसे एक विभाग के जरिए वह केवल तटीय क्षेत्र के लोगों की सेवा कर सकते हैं पर अन्य लोगों की सेवा के लिए उन्हें और विभाग मिलने चाहिए।

    कैबिनेट मंत्री का दर्जा न मिलने पर भी उठाए सवाल
    - परषोत्तम सोलंकी ने उन्हें अब तक कैबिनेट मंत्री का दर्जा नहीं मिलने पर भी सवाल उठाया है।

    - इस बीच राजनीतिक गलियारों में लोग इस बात को भी लेकर चुटकी ले रहे हैं कि 15 दिसंबर से 13 जनवरी तक सूर्य के संक्रमण काल के कारण हिन्दू परंपरा के मुताबिक कथित ‘कुमुहूर्त’ में शपथ ग्रहण के चलते विजय रूपाणी सरकार शुरूआत में ही एक के बाद एक मुश्किल का सामना कर रही है। आगे और चुनौितयों से निपटने के लिए सीएम को तैयार रहना होगा।

    समाज की लामबंदी से पटेल को मिला वित्त विभाग
    - 26 दिसंबर को सरकार के शपथ ग्रहण और 28 दिसंबर को विभागों के आवंटन के बाद 31 दिसंबर तक नितिन पटेल ने ‘’शोभनीय’’ विभाग नहीं मिलने पर बगावती तेवर अपना कर पदभार ग्रहण नहीं किया था।

    - उनके समर्थन में राज्य के दबंग पाटीदार समाज की खुली लामबंदी के चलते उन्हें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के हस्तेक्षप के बाद वित्त विभाग भी देना पड़ा था। कोली समाज के मंत्री के बगावती तेवर से भाजपा को नये संकट का सामना करना पड़ रहा है।

  • गुजरात के मिनिस्टर बोले- सीएम 12-12  डिपार्टमेंट लिए बैठे हैं, मुझे भी मिले सम्मान
    +1और स्लाइड देखें
    उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल के बाद अब रुपाणी सरकार के दूसरे मंत्री की नाराजगी सामने आई है। इससे पहले नितिन पटेल नाराज थे। - फाइल
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Surat News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Gujarat Minister Parshottam Solanki Expresses Displeasure Over Portfolios Allocation
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×