--Advertisement--

मोदी ने 89 सीटों के लिए 19 रैलियां कीं, सीटों के लिहाज से यूपी से 6 गुना ज्यादा

मोदी ने एक रैली से 4 से 5 और राहुल ने एक रैली व रोड-शो के जरिए 3 से 4 सीटें कवर कीं।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 05:34 AM IST

अहमदाबाद. गुजरात में पहले फेज की 89 सीटों पर शनिवार को वोटिंग है। गुरुवार शाम को इसका प्रचार खत्म हुआ था। शुक्रवार से बीजेपी और कांग्रेस ने दूसरे चरण में 93 सीटों के प्रचार के लिए पूरी ताकत लगा दी है। शुक्रवार को मोदी ने 4 और राहुल ने 5 रैली कीं। पहले फेज को दोनों पार्टियों के चुनाव प्रचार और रैलियों के लिहाज से देखें तो गुजरात चुनाव ने देश के सबसे बड़े चुनावी राज्य यूपी को पीछे छोड़ दिया है। पहले फेज में बीजेपी की ओर से प्रधानमंत्री मोदी ने अपने गढ़ को बचाने के लिए 11 दिन में 19 जनसभाएं कीं। यानी एक रैली के से उन्होंने 4 से 5 विधानसभा सीटें कवर की हैं। वहीं, इस साल हुए यूपी विधानसभा चुनाव में पहले फेज में ही 73 सीटें थीं। इन पर गुजरात के पहले फेज से ज्यादा मतदाता थे। बावजूद, मोदी ने सिर्फ 3 जनसभाएं की थीं। यानी एक रैली के जरिए उन्होंने 24 से 25 सीटें कवर की थीं।

राहुल गांधी ने पहले फेज में 23 रैली और रोड-शो किए

गुजरात विधानसभा चुनाव में पहले फेज में 19 जिलों में 12 लोकसभा सीटें हैं। 2.12 करोड़ वोटर हैं। यूपी विधानसभा चुनाव के पहले फेज में 15 जिलों में 13 लोकसभा सीटें थीं। 2.60 करोड़ वोटर थे।

30 केंद्रीय मंत्री, 25 वरिष्ठ बीजेपी नेता और करीब 120 सांसद, 250 से ज्यादा विधायक प्रचार में लगे

गुजरात विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने चुनाव प्रचार के लिए सबकुछ झोंक दिया है। महाराष्ट्र, राजस्थान से लेकर यूपी, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, हरियाणा, उत्तराखंड, छत्तीसगढ़ तक के सीएम, वरिष्ठ नेता, मंत्री और पार्टी कार्यकर्ता चुनाव के प्रचार के लिए पहुंचे हैं या पहुंचने वाले हैं। राज्य में केंद्र सरकार के 25 से 30 मंत्री, 25 वरिष्ठ नेता, 10 सीएम और दो डिप्टी सीएम प्रचार कर रहे हैं। महाराष्ट्र सरकार के 10 मंत्री, 25 विधायक, राजस्थान के 7 मंत्री और 30 विधायक, मध्यप्रदेश के 5 मंत्री और 20 से 25 विधायक, यूपी के 15 मंत्री और करीब 50 विधायक प्रचार कर चुके हैं या कर रहे हैं। इसके अलावा बाकी राज्यों से भी बीजेपी के करीब 15 से 20 मंत्री और 150 से ज्यादा विधायक प्रचार में शरीक हुए हैं। वहीं, पार्टी के 120 से 130 सांसद भी प्रचार अभियान में शामिल हुए हैं। पार्टी संगठन और विभिन्न राज्यों के करीब 2,000 कार्यकर्ता भी चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं। यहां तक यूपी में हाल में हुए निकाय चुनावों में विजयी मेयर, पंचायत अध्यक्ष और पार्षद-सभासद भी गुजरात में चुनाव प्रचार करने पहुंचे हैं।

राहुल गांधी, मोदी से आगे

राहुल भी राज्य में चुनावी जनसभाएं, रोड-शो, मंदिर दर्शन कर रहे हैं। राहुल ने 25 नवंबर से 7 दिसंबर तक राज्य में करीब 11 चुनावी जनसभाएं, 12 रोड शो किए। यानी उन्होंने 3 से 4 विधानसभा सीटें कवर की हैं। यूपी में पहले फेज में राहुल ने दो रैली, एक रोड शो किए थे।

कांग्रेस से 15-20 वरिष्ठ नेता

कांग्रेस की कमान राहुल गांधी अकेले संभाले हुए हैं। उनके अलावा पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह, नवजोत सिंह सिद्धू, मनमोहन सिंह, अहमद पटेल चुनाव प्रचार कर रहे हैं। कांग्रेस के 15 से 20 वरिष्ठ नेता, संगठन से जुड़े एक हजार कार्यकर्ता प्रचार में लगे हुए हैं।