--Advertisement--

मां अंबे का स्वर्णमय शिखर, 119 किलो सोने का इस्तेमाल हुआ

शिखर स्वर्णमय बनाने के लिए तांबे के पतरों को शिखर के मूल डिजाइन के अनुसार एंब्रोज कर देशी परा पद्धति से स्वर्ण गढ़ा गया ह

Danik Bhaskar | Mar 27, 2018, 01:58 AM IST

अहमदाबाद. अंबाजी मंदिर के शिखर को स्वर्ण से गढ़ने का काम चल रहा है। 61 फीट के शिखर के सामने 57 फीट का स्वर्ण शिखर बन गया है। 57 फीट स्वर्ण शिखर पर 119 किलो सोने का उपयोग किया गया है।

किस तरह से गढ़ा गया है शिखर
शिखर स्वर्णमय बनाने के लिए तांबे के पतरों को शिखर के मूल डिजाइन के अनुसार एंब्रोज कर देशी परा पद्धति से स्वर्ण गढ़ा गया है।

25 किलो सोना दान किया गया
अहमदाबाद के आई भक्त मुकेश भाई पटेल ने मां अंबे को 25 किलो सोना दान देने का संकल्प लिया था। जिसमें इससे पहले उन्होंने पांच-पांच किलो कर चार बार कुल 20 किलो सोना दिया है। रविवार को पांच किलो सोना दान कर उन्होंने कुल 25 किलो सोना दिया है।

61 फीट स्वर्णमय शिखर

57 फीट का काम पूरा

140 किलो सोने की जरूरत

129 किलो सोना मिल चुका है

119 किलो सोने का उपयोग हुआ