--Advertisement--

सीएम रूपाणी बोले- नर्मदा से इस बार नहीं मिलेगा सिंचाई के लिए पानी

20 साल बाद ऐसे हालात, पेयजल ही प्राथमिकता

Danik Bhaskar | Feb 03, 2018, 08:09 AM IST

अहमदाबाद. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने किसानों से एक बार फिर नर्मदा के जल पर आश्रित रह कर ग्रीष्मकालीन फसलों की खेती नहीं करने की अपील करते हुए कहा कि इस काम के लिए पानी नहीं दिया जा सकेगा।

- रूपाणी ने शुक्रवार को कहा कि लगभग 20 साल बाद ऐसी स्थिति पैदा हुई है कि नर्मदा जलाशय का जलस्तर बहुत नीचे चला गया।

- पेयजल के लिए निर्भर राज्य के 10 हजार से अधिक गांवों और 167 से अधिक शहरों के करीब चार करोड़ लोगों को पीने के लिए की जाने वाली आपूर्ति के लिए बचाना पड़ेगा। पेयजल आपूर्ति जारी रखना सरकार की पहली प्राथमिकता है।

- उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश से पूर्व के 30 हजार घन फीट प्रति सेकंड यानी क्यूसेक की बजाय अब मात्र 1800 से 300 क्यूसेक पानी ही मिल पा रहा है। सरकार की पहली प्राथमिकता नर्मदा के पानी पर निर्भर चार करोड़ लोगों को पीने का पानी उपलब्ध कराना है। जाड़े की फसलों के लिए पानी उपलब्ध कराया था जो अब भी दिया जा रहा है।