Hindi News »Gujarat »Surat» Narmada Water Security By Police In Gujarat

जल आंदोलन: नर्मदा के पानी पुलिस का पहरा, 900 जवानों की तैनाती

गरुडेश्वर तहसील के उंडावा गांव में किसानों का आंदोलन, नर्मदा केनाल से 16 जून तक पानी देने की मांग

Bhaskar News | Last Modified - Mar 18, 2018, 05:22 AM IST

जल आंदोलन: नर्मदा के पानी पुलिस का पहरा, 900 जवानों की तैनाती

केवडिया. नर्मदा के माइनर केनाल में पानी बंद किए जाने से गरुडेश्वर तहसील के उंडावा सहित गांवों के किसानों ने आंदोलन शुरू कर दिया है। पुलिस ने आंदोलन कर रहे 30 किसानों को गिरफ्तार किया। सरकार द्वारा आवाज दबाने के प्रयास से आक्रोशित किसानों ने उग्र आंदोलन करने की चेतावनी देते हुए खेतों में खड़ी फसलों को सूखने से बचाने लिए 30 जून तक पानी की मांग की है।

- ज्ञातव्य है कि 16 मार्च से नर्मदा से सिंचाई का पानी बंद कर दिया गया है। नर्मदा का पानी बंद होने के बाद उंडावा गांव की मुख्य केनाल के पास भीलिस्तान लायन सेना, जनता दल और अन्य संगठनों से जुड़े किसानों ने शुक्रवार को जल आंदोलन शुरू किया। आंदोलन में 2 से 3 हजार किसान शामिल हुए।

- किसानों के आंदोलन की जानकारी होते ही उंडावा मुख्य केनाल के आसपास पुलिस और एसआरपी के जवानों को तैनात कर दिया गया था।

- किसानों ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उनके नेताओं काे नजरकैद करते हुए आंदोलन तक नहीं पहुंचने दिया। केनाल के जीरो प्वाॅइंट की ओर बढ़ रहे किसानों को पुलिस और एसआरपी के जवानों ने गिरफ्तार करते हुए जल आंदोलन को दबाने का प्रयास किया।

नर्मदा में पानी की चोरी रोकने के लिए 900 जवानों की तैनाती

नर्मदा डैम का पानी सरकार के लिए सिरदर्द बनता जा रहा है। अब सरकार इस दिशा में और भी सचेेत हो गई है। 15 मार्च को जब सरकार ने सिंचाई के लिए पानी देना बंद कर दिया, तो किसान नाराज हो गए। वहीं सरकार ने पानी की चोरी रोकने के लिए 900 जवानों की तैनाती कर दी है। नर्मदा केनाल के 45 कि.मी. क्षेत्र में 750 सुरक्षाकर्मियों की तैनाती कर दी है। केनाल्स में 5 पीआई, 10 पीएसआई और 735 सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी लगा दी है। नर्मदा के बोडेली, हालोल, लाडवेल, गांधीनगर, मोढेरा, राघनपुर, दियोदर इलाकों में सरकार पानी की पूरी तरह से सुरक्षा कर रही है।

अहमदाबाद को नर्मदा से 200 एमएलडी पानी देने की मंजूरी

अहमदाबाद शहर के शेढी केनाल से 200 और कोतरपुर इन्टेकवेल से 100 एमएलडी की कमी को पूरा करने के लिए राज्य सरकार की उच्च स्तरीय बैठक हुई। सरकार ने नर्मदा से 200 एमएलडी पानी देने की मंजूरी दी है। नर्मदा की पाइप लाइन से 100 एमएलडी और कोतरपुर के बंद इंटेकवेल से 100 एमएलडी पानी लेने की सरकार ने मंजूरी दे दी है। शुक्रवार को शहरी सचिव, नर्मदा अथॉरिटी के अधिकारियों और मनपा आयुक्त की बैठक हुई।


महानगरपालिका ने शेढी केनाल से पानी चालू रखने की मांग की थी। पर उसके बदले नर्मदा केनाल की पाइप लाइन से जो पानी दिया जा रहा है उसमें 100 एमएलडी ज्यादा पानी देने और कोतरपुर इन्टेकवेल से 100 एमएलडी पानी लेने की मंजूरी दी गई है। पालिका अधिकारियों ने बताया कि अहमदाबाद में पानी की कमी को पूरा करने के लिए जगह-जगह नए ट्यूबवेल लगाए जा रहे हैं।

नर्मदा योजना के लिए 1131 करोड़

गुजरात की जीवनरेखा कही जाने वाली नर्मदा योजना के लिए केंद्र सरकार ने 1131 करोड़ की अतिरिक्त ग्रांट मंजूर की है। उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने शनिवार को कहा कि सरदार सराेवर प्रोजेक्ट के कामों को जल्द पूरा करने के लिए एआईबीपी और सीएडीडब्ल्यूएम योजना के अंतर्गत ग्रांट दी गई है। इससे पहले केंद्र सरकार ने 970 करोड़ की ग्रांट दी थी। राज्य सरकार की अपील पर ध्यान देते हुए केंद्र सरकार ने 1131 करोड़ की अतिरिक्त ग्रांट मंजूर की है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Surat

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×