--Advertisement--

5 बाइक पर आए 10 पास वर्कर्स ने पार्टी के फॉर्मर नेशनल कोर्डिनेटर पर किया हमला

पूर्व राष्ट्रीय संयोजक पर हार्दिक का कथित वीडियो वायरल करने का आरोप।

Danik Bhaskar | Dec 10, 2017, 05:46 AM IST
शनिवार अपराह्न 4:30 बजे पांच बाइक पर आए लगभग 10 पास कार्यकर्ताओं ने कार को रोक कर हमला किया। शनिवार अपराह्न 4:30 बजे पांच बाइक पर आए लगभग 10 पास कार्यकर्ताओं ने कार को रोक कर हमला किया।

सूरत. पाटीदार आरक्षण समिति के पूर्व राष्ट्रीय संयोजक अश्विन सांकडासरिया के ऊपर सूरत में पास कार्यकर्ताओं द्वारा हमला करने का मामला सामने आया है। आरोप है कि वह वराछा स्थित धरमनगर रोड से से गुजर रहे थे। उसी दौरान पास कार्यकर्ताओं ने उनकी कार को रोककर हमला किया। हमले में कार को नुकसान पहुंचाया। साथ ही उन्हें और उनके भाई को चोट भी लगी। अश्विन ने यह भी आरोप लगाया है कि पास कार्यकर्ताओं ने हमले के दौरान कार में बैठी महिलाओं से गहने से भरा बैग भी छीनकर ले गए। वराछा पुलिस ने अज्ञात पास कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

- बता दें कि पिछले दिनों पास कन्वीनर हार्दिक पटेल की जो कथित वीडियो वायरल हुई थी। उसको लेकर हार्दिक ने आरोप लगाया था कि सभी वीडियो अश्विन ने ही वायरल की थी। इससे पहले मतभेद के चलते अश्विन ने पाटीदार आरक्षण आंदोलन समिति से खुद को अलग कर लिया था।

- दिल्ली के करोलबाग क्षेत्र के बिदनपुरा निवासी तथा मूल भावनगर के अश्विन भाया भाई सांकडासरिया किसी रिश्तेदार की शादी में शनिवार को परिवार के साथ सूरत आए हुए थे। शनिवार को कार से वराछा में अनुराधा सोसाइटी जा रहे थे। अपराह्न करीब 4:30 बजे वराछा में धरमनगर रोड पर खोडियार नगर से गुजरते वक्त पांच बाइक पर आए कुछ युवकों ने उनकी कार को रोक कर हमला कर दिया।

पास छोड़ने पर हमला

वराछा पुलिस स्टेशन में अश्विन ने शिकायत दर्ज करवाई है, जिसमें उन्होंने कहा कि, हमलावरों ने हमला करने के दौरान कहा, तू हार्दिक का विरोध करेगा। तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई हार्दिक का विरोध करने की। बता दें तीन साल तक पाटीदार आरक्षण को लेकर अश्विन हार्दिक के साथ थे, लेकिन पिछले दिनों मतभेद के चलते खुद को पास से अलग कर लिया था। इससे पहले वे पास के राष्ट्रीय संयोजक थे।

अनदेखी : पुलिस के बोलने के बावजूद नहीं ली सुरक्षा

हार्दिक के विरोध के कारण अश्विन को कई लोगों ने फोन व मैसेज करके धमकी दी थी, जिसके कारण उन्हें सुरक्षा दी गई थी। लेकिन, शनिवार को जब हमला हुआ उस समय उनके साथ सुरक्षाकर्मी नही थे। बताया गया कि पुलिस ने उन्हें सुरक्षा देने को कहा था, लेकिन शादी में जाने के कारण उन्होंने सुरक्षा लेने से मना किया था। इसी का फायदा उठाकर पास कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया।

एक की शिनाख्त

इस संबंध में अश्विन ने कुल 10 पास कार्यकर्ताओं पर हमला करने का आरोप लगाया है, जिसमें एक आरोपी कल्पेश आगसिया को उन्होंने नामजद किया। कल्पेश को वह पास आंदोलन के दौरान से जानते है, जबकि बाकी को अज्ञात बताया है। पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी फुटेज को भी खंगालना शुरू कर दिया है ताकि बाकी लोगों की शिनाख्त की जा सके। वहीं नामजद आरोपी फरार बताया जा रहा है।

हमले में कार को नुकसान पहुंचाया। हमले में कार को नुकसान पहुंचाया।
पूर्व संयाेजक अश्विन व उनके भाई को चोट आई। पूर्व संयाेजक अश्विन व उनके भाई को चोट आई।