--Advertisement--

प्रमुख पार्टियां 5 से 7 दिसंबर तक जारी करेंगी मैनिफेस्टो, ये रहेगी बीजेपी की रणनीति

कांग्रेस मैनिफेस्टो 5 या 7 दिसंबर को जारी करेगी और इसमें किसानों की कर्ज माफी, सबके लिए सस्ते आवास जैसी बातें होंगी।

Danik Bhaskar | Dec 03, 2017, 04:28 AM IST

अहमदाबाद. चुनाव के लिए टिकटों की घोषणा में अंतिम क्षणों तक पहले आप पहले आप की तर्ज पर चलने वाली मुख्य दोनों पार्टियों ने घोषणा पत्र के मामले में कुछ ऐसा ही रवैया अपना रखा है। चुनाव में अब चंद दिन रहने के बावजूद इसे जारी नहीं किया गया है। कांग्रेस अपना घोषणा-पत्र (मैनिफेस्टो) 5 या 7 दिसंबर को जारी करेगी और इसमें किसानों की कर्ज माफी, सबके लिए सस्ते आवास जैसी बातें शामिल होंगी। संभवत: कांग्रेस के बाद ही भाजपा का भी घोषणा पत्र जारी होगा।


कांग्रेस सरकार के कामकाज का रोडमैप होगा मेनिफेस्टो : कांग्रेस महासचिव

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव तथा घोषणा पत्र समिति के संयोजक दीपक बाबरिया ने बताया कि शुरूआत में इसके लिए पार्टी कार्यकर्ताओं और गैर सरकारी संगठनों यानी एनजीओ से चर्चा हुई थी पर राहुल गांधी ने इसके लिए सार्वजनिक सुनवाई (पब्लिक हियरिंग) की तर्ज पर लोगों से मिल कर और सैम पित्रोदा की मदद से काम करने का निर्देश दिया था। दोबारा पार्टी ने इसके लिए हर किसी की बात सुनी है। अब इसे नए सिरे से संकलित किया जा रहा है। यह आने वाली कांग्रेस सरकार के कामकाज का पूरा रोड मैप होगा। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता मनीष दोषी ने बताया कि इसे पांच या सात दिसंबर को जारी कर दिया जाएगा। इसमें करीब एक सप्ताह का विलंब मुख्यत: दो तीन कारणों से हुआ है।

राहुल ने कड़ाई से इसमें सिर्फ ऐसे ही वायदे रखने को कहा है जिन्हें पूरा करना संभव हो। इसमें जुमले-बाजी की जगह नहीं होगी। इसके बाद पहले से तैयार घोषणा पत्र से कई बातें निकाली भी गई हैं। उनके निर्देश के बाद इस पर दोबारा काम करना पड़ा है। घोषणा पत्र समिति के प्रमुख राज्यसभा सांसद मधुसूदन मिस्त्री के पुत्र के निधन से भी इसे तैयार करने की गति पर असर पड़ा। इसमें लोगों के मुद्दे डालने के लिए भी इस पर बाबरिया और पित्रोदा ने दोबारा मेहनत की है।

भाजपा की रणनीति
- आरक्षण पर कांग्रेस के रुख काे जानना चाहती है भाजपा
- मोदी के दौरे में कोई चूक न रह जाए, अमित शाह ने प्रदेश की टीम को अलर्ट कर किया
- कांग्रेस पहले घोषणा पत्र जारी करती है तो उससे अलग 3-4 मुद्दों को अपने घोषणापत्र में शामिल करने के लिए भाजपा तैयार है
- डैमेज कंट्रोल की कवायद अभी भी चल रही है। गढ़ में सेंध न लगे इसलिए भाजपा घोषणा पत्र में कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहती है
- ग्रामीण, कृषि, शिक्षा, रोजगार के नए आयामों वाले घोषणा पत्र को जनता के सामने कैसे लाया जाए इस पर मंथन हो रहा है।

कांग्रेस के बाद ही भाजपा जारी करेगी घोषणा पत्र

इस बार भाजपा कांग्रेस के बाद अपना मेनिफेस्टो जारी करेगी। भाजपा के एक सीनियर नेता ने बताया कि रणनीति के तहत देरी हो रही है। भाजपा का घोषणा पत्र तैयार है पर स्थिति जानने के बाद इसमें सुधार वगैरह करके इसे जारी किया जाएगा।